एसईसीएल ने कोरबा जिले में कुपोषण के विरुद्ध अभियान में दिया सहयोग

आंगनबाड़ी केंद्रों के जरिए हो सकेगी नौनिहालों की कुपोषण जाँच

एसईसीएल बिलासपुर: बच्चों में कुपोषण के मामलों में कमी लाने के उद्देश्य से कोरबा जिले में संचालित हो रहे आंगनबाड़ी केंद्रों में कुपोषण जाँच हेतु मेडिकल उपकरण की व्यवस्था की जा रही है। इस से कुपोषित बच्चों की पहचान हो सकेगी तथा आयु अनुसार उनके शारीरिक विकास के मापदंडों की जाँच भी हो सकेगी। इसके अंतर्गत बच्चों मे कुपोषण के स्तर , बौनापन एवं दुर्बलता की स्थिति का आकलन करने के लिए 2 से पाँच वर्ष के आयु वर्ग के लिए स्टेडिओमीटर तथा नवजात से 2 वर्ष के आयुवर्ग के लिए इंफेंटोमीटर उपकरण उपलब्ध कराए जाएँगे। यह सुविधा कोरबा जिले के लगभग 2500 आंगनबाड़ी केंद्रों में उपलब्ध होगी।

एसईसीएल सीएसआर मदद्वारा वित्त पोषित उक्त परियोजना हेतु रु.142.18 लाख की वित्तीय सहायता एसईसीएल दीपका क्षेत्र द्वारा जिला कलेक्टर, कोरबा को प्रदान की गई है । इस सम्बंध में जारी स्वीकृति आदेश के अनुसार उपरोक्त सामग्री जेम-पोर्टल के माध्यम से क्रय की जाएगी तथा मशीन के उपयोग, लाभार्थियों की संख्या, पोषकता जाँच का विवरण आदि का समुचित रेकार्ड रखा जाएगा ।

जिले के ग्रामीण इलाकों में इस प्रकार की सुविधा होने से बच्चों में पोषण की समस्या को आरम्भिक रूप में हीं चिन्हित करने में मदद मिल सकेगी । इसे एक महत्वाकांक्षी एवं इनोवेटिव परियोजना के तौर पर देखा जा रहा है ।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button