मुख्यमंत्री के निर्देश पर मनीष को ईलाज के लिए एक लाख रूपये की सहायता मिली

जिला प्रशासन द्वारा पचास हजार रूपये और सीएसपी ने की पंचास हजार रूपये की सहायता

कोरबा : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देश पर कोरबा जिला मुख्यालय के बुधवारी बस्ती में रहने वाले किडनी के रोग से पीड़ित बच्चे को एक लाख रूपये की आर्थिक सहायता उपलब्ध करा दी गई है। कलेक्टर किरण कौशल ने जिला प्रशासन की तरफ से पचास हजार रूपये और दर्री में पदस्थ सीएसपी शेर बहादुर ने 50 हजार रूपये की सहायता दी है।

बुधवारी बाजार बस्ती में रहने वाले धनेन्द्र गभेल के बेटे मनीष गभेल को छोटी सी उम्र में ही किडनी का रोग होने से उसकी दोनों किडनी खराब हो गई है। बच्चे की किडनी ट्रांसप्लांट किया जाना है। मां अनीता गभेल अपनी एक किडनी बच्चे को देने तैयार है पर ट्रांसप्लांट में लगभग सात लाख रूपये का खर्चा है। इतनी बड़ी रकम का इंतजाम करना इस गरीब परिवार के लिए संभव नहीं है इसलिए अपने बच्चे की जिंदगी बचाने आर्थिक सहायता की अपील मां अनिता ने की है।

समाचार पत्रों तथा सोशल मीडिया में खबर प्रकाशन के बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने संवेदनशीलता का परिचय देते हुए इसे संज्ञान में लिया और जिला कलेक्टर को मनीष के ईलाज के लिए हर संभव सहायता उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। इसके बाद मनीष को अब तक एक लाख रूपये की सहायता शासन-प्रशासन की ओर से मिल गई है।

मनीष के ईलाज के लिए कटघोरा के एसडीएम अजय रांव ने कल मनीष के घर जाकर जिला प्रशासन की तरफ से 50 हजार रूपये सहायतार्थ मनीष की मां को दिए हैं। दर्री के सीएसपी शेर बहादुर सिंह ने भी परिवार को 50 हजार रूपये की सहायता दी है।

आर्थिक सहायता के लिए प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की संवेदनशीलता और उनके निर्देश पर मिली सहायता के लिए मनीष के परिजनों ने मुख्यमंत्री को धन्यवाद ज्ञापित किये हैं। मनीष की मां अनीता ने कहा कि अब उन्हें विश्वास है कि उनके बेटे का ईलाज सही ढंग से हो जाएगा। अनीता ने कहा कि जिस प्रदेश में सबकी विशेषकर गरीबों की चिंता करने वाले मुख्यमंत्री हो, उस प्रदेश में कोई मनीष किसी भी बीमार के कारण पैसों की कमी से अब असमय ही काल का ग्रास नहीं बनेगा।

Tags
Back to top button