PM पर आपत्तिजनक ट्वीट: मनीष ने मांगी माफी

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ आपत्तिजनक शब्द का इस्तेमाल करने पर कांग्रेस महासचिव मनीष तिवारी ने माफी मांग ली है।

हालांकि, उन्होंने साथ ही यह सवाल किया है कि क्या पीएम मोदी उन लोगों को ट्विटर पर अनफॉलो करेंगे जो महिलाओं को अपशब्द कहते हैं।

तिवारी ने रविवार को अपनी सफाई में एक के बाद कई ट्वीट किए हैं। उन्होंने ट्वीट किया, ‘मैं बोलचाल की हिंदी वाले मुहावरे के इस्तेमाल के लिए माफी मांगना चाहूंगा।

हालांकि, क्या पीएम वादा करेंगे कि वह महिलाओं के खिलाफ अपशब्द का इस्तेमाल करने वालों को अनफॉलो करेंगे???’

दरअसल, मनीष तिवारी ने पीएम मोदी को लेकर एक विडियो शेयर किया था जिसमें राष्ट्रगान के दौरान वह चलते हुए दिखाई दे रहे हैं।

तिवारी के इस विडियो पर दीपक कुमार सिंह नाम के एक व्यक्ति ने जवाब दिया कि आप उन्हें देशभक्ति न सिखाएं।

उनको महात्मा गांधी भी नहीं सिखा सकते। इस व्यक्ति को जवाब देते हुए तिवारी ने आपत्तिजनक ट्वीट कर डाला।

तिवारी ने ट्वीट किया, ‘इसे कहते हैं चू#$% को भक्त बनाना और भक्तों को पर्मानेंट चू#$% बनाना- जय हो।

यहां तक कि महात्मा भी मोदी को देशभक्ति नहीं सिखा सकते।’ मनीष तिवारी को अपने इस ट्वीट के कारण हालांकि काफी आलोचनाओं का सामना करना पड़ा है।

बीजेपी ने इस पर कड़ी आपत्ति जताई और आरोप लगाए कि यह सब कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के आदेश पर किया जा रहा है।

साथ ही बीजेपी ने कांग्रेस नेताओं को ृदिमागी इलाज का सुझाव दे दिया।

इधर, मनीष तिवारी ने इस ट्वीट पर माफी मांगते हुए सफाई पेश की। उन्होंने ट्वीट किया, ‘मैंने एक विडियो शेयर किया जिसमें राष्ट्रगान बजने के दौरान पीएम चल रहे थे।

इस पर किसी ने जवाब दिया। ‘आप मोदी को देशभक्ति ना सिखाएं। उनको महात्मा गांधी भी नहीं सिखा सकता।’

उपहास के रूप में बोलचाल में इस्तेमाल होने वाले हिंदी के के शब्द को ट्वीट किया। इसका मतलब पीएम या महात्मा को अपमानित करना नहीं था।’

तिवारी ने आगे ट्वीट किया, ‘जवाब में दोनों का उल्लेख मेरे ऑरिजिनल ट्वीट में नहीं है।

अगर बोलचाल वाले हिंदी के मुहावरे को लेकर अगर हो-हल्ला हो रहा है, जिसका इस्तेमाल मूर्खता के लिए होता है और कुछ नहीं। उसके लिए जिसने पीएम को महात्मा के ऊपर रखा।’

Back to top button