मैनपुर: सोलर बिजली से परेशान ग्रामीण चिमनी युग में जीवन जीने मजबूर

रिपोर्ट:हितेश दीक्षित छुरा/गरियाबंद

मैनपुर: गरियाबंद जिला के आदिवासी विकास खंड मैनपुर के ग्राम पंचायत तोरेंगा के आश्रित ग्राम जुगाड के लोगो को सोलर लाइट नही जलने के कारण काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। गांव मे सोलर बिजली तो लगी है लेकिन नाम मात्र का शाम 6 बजे जलती है तो वही 7 बजे तक ही दम तोड़ देती है।

कई घरो मे चुल्हा नही जला रहता अंधेरे मे ही खाना बना के अंधेरे मे ही खाने को मजबूर है। सबसे ज्यादा परेशानी तो यहा के स्कूली बच्चे को है क्योंकि वो चिमनी के सहारे पढ़ाई करने को मजबूर है। कई दफा बङे अधिकारियो एवं नेताओ से इस परेशानी से अवगत करा चुके है।

बिजली की मांग को लेकर आज से 3 साल पहले आसपास के ग्रामीणो ने मिलकर नेशनल हाईवे 130 पर ड़ुमरपड़ाव के पास चक्काजाम किया था लेकिन बड़े अधिकारियो एव वन विभाग द्वारा अभ्यारण्य का हवाला देकर टाल दिया गया।

अगर जुगाड गाँव अभ्यारण्य क्षेत्र के अंतर्गत आता है तो फिर ग्राम कोयबा, बम्हनीझोला यहा तक जिस गांव के नाम पर अभ्यारण्य बनाया गया है उदंती वहा भी बिजली लगा है और तो और जुगाड गांव मे भी बिजली लगा है।

प्रमुख रूप से ग्रामपंचायत तौरेगा सरपंच बनसिग सोरी पंच, हरेश कश्यप पर फूलसिग नेताम पंच, ललिता बाई नायक, महेश नागेश, मनोज कुमार कश्यप, प्रीत कुमार कश्यप, संजय कुमार कश्यप, भजन लाल नागेश,

धनीराम मांझी, नंदकुमार नागेश, ईशोराम कश्यप, दिनेश कुमार, नागेश रूपसिंह नायक, धनीराम धुव्र, त्रिवेणी कश्यप, बासोबाई नागेश, पदुमतुला, हिरौदी बाई, नागेश, सरोंगा बाई नेताम, जैनलता नागेश, लिलेशवरी, सुबेदी बाई, बुगेबाई सोरी इन लोगो ने नई सरकार से नई उम्मीद लेकर बिजली लगाने की मांग किए है।

1
Back to top button