छत्तीसगढ़

अकेले पांच पर भारी पड़ा निहत्था जवान, भाग गए माओवादी

रायपुर/दंतेवाड़ा : निहत्था था लेकिन जज्बा था। शेर की तरह झपटा और पांच माओदियों को अकेले ही धूल चटा दिया। इतना ही नहीं शहीद एसआई विवेक शुक्ला की पिस्टल भी उनसे छीन लाया। जवान की दिलेरी से भयभीत माओवादी जान बचाकर भागने के लिए मजबूर हो गए। हम बात कर रहे हैं दंतेवाड़ा पुलिस बल के आरक्षक भीमाराम कुंजाम की।
दंतेवाड़ा पुलिस अधीक्षक कमलोचन कश्यप ने वीएनएस से कहा कि, कुआकोंडा थाना क्षेत्र का जवान भीमाराम 6 अक्टूबर की सुबह सूचना संकलन के लिए हितवार गया था। सुबह लगभग 8 बजे पटेलपारा के हितवार के एक मकान की छपरी पर बैठे माओवादियों ने भीमाराम पर हमला किया। निहत्थे ही भीमाराम पांचों पर शेर की तरह झपटा और उनके कब्जे से शहीद एसआई विवेक शुक्ला की पिस्टल भी छीन लिया। उन्होंने कहा कि, 28 फरवरी को कुआकोण्डा थाना क्षेत्र में श्यामागिरी घाटी में थाना कुआकोण्डा से एरिया डॉमिनेशन पर निकली पुलिस पार्टी पर माओवादियों ने हमला किया था। हमले में शहीद उप निरीक्षक विवेक शुक्ला की 9 एमएम की पिस्टल माओवादी छीनकर ले गए थे, यह पिस्टल पुन: दंतेवाड़ा पुलिस को भीमाराम के साहस से मिल गई है। बाजी पलटी तो ग्रामीण के भेष में पहुंचे माओवादी जान बचाकर भाग गए। जवान भीमाराम कुंजाम की बहादुरी पर दंतेवाड़ा एसपी कमललोचन कश्यप ने जवान को दस हजार नगद राशि से पुरस्कृत किया।

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *