गढ़चिरौली के अरेवाड़ा में माओवादियों ने फहराया काला झंडा

- दहशत में ग्रामीण, स्वतंत्रता दिवस समारोह का बहिष्कार के बैनर लगाए

गढ़चिरौली :

महाराष्ट्र में माओवाद प्रभावित गढ़चिरौली जिले के अरेवाड़ा पंचायत कार्यालय परिसर में माओवादियों ने कथित रूप से एक काला झंडा फहराया। इस बात की जानकारी पुलिस ने बुधवार को दी। पुलिस के मुताबिक, जब कुछ लोग देश के 72वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर सुबह तिरंगा फहराने पंचायत कार्यालय गए तो उन्होंने वहां काला झंडा देखा।

बता दें कि अरेवाड़ा गांव जिले के भामरागढ़ तालुक में स्थित है। यह गांव गढ़चिरौली से लगभग 180 किलोमीटर दूर है। भामरागढ़ पुलिस थाने के निरीक्षक और प्रभारी सुरेश मेदनी ने बताया, ग्रामीणों ने हमें सुबह सूचना दी कि पंचायत कार्यालय में उन्हें एक काला झंडा फहराता हुआ मिला है। गांव काफी दूर स्थित है इसलिए हम तत्काल नहीं पहुंच सके। यह गांव नक्सल प्रभावित क्षेत्र में आता है। ऐसी आशंका है कि उग्रवादी घात लगाकर पुलिस पर हमला कर सकते हैं।

इस मामले में एक ग्राम सेवक ने बताया कि उन्होंने सबसे पहले उस समय काला झंडा देखा जब वह स्वतंत्रता दिवस समारोह में तिरंगा फहराने के लिए गए थे। हालांकि, उन्होंने डर के कारण यह झंडा नहीं हटाया। पुलिस अधिकारी सुरेश मेदनी ने कहा कि उन्होंने स्थानीय लोगों और ग्राम पंचायत अधिकारियों से काला झंडा हटाने के लिए कहा था लेकिन अभी तत्काल यह पता नहीं चल सका है कि झंडे को हटाया गया है या नहीं।

पुलिस को आशंका है कि इस कृत्य के पीछे माओवादियों का हाथ है। उन्होंने बताया कि ग्रामीणों को एक बैनर भी मिला है, जिसे नक्सलियों ने कथित रूप से पंचायत कार्यालय के बाहर लगाया है। इस बैनर में लोगों से कहा गया है कि उन्हें स्वतंत्रता दिवस समारोह का बहिष्कार करना चाहिए।

Tags
Back to top button