मराठा आंदोलन – पुणे-नासिक में बंद के दौरान भड़की हिंसा

उपद्रवियों ने गाड़ियां फूंकी, अचानक उग्र हो गए आंदोलनकारी

नई दिल्ली। महाराष्ट्र में बीते कई दिनों से चल रहा मराठा आंदोलन गुरुवार दोपहर को अचानक हिसंक हो गया। पुणे और नासिक में बंद के दौरान अचानक हिंसा भड़क उठी, आंदोलनकारियों ने गाड़ियों में आग लगा दी और आसपास की दुकानों में तोड़फोड़ की। दरअसल मराठा समूहों के संघ सकल मराठा समाज ने सरकारी नौकरियों और शैक्षणिक संस्थानों में मराठा लोगों के आरक्षण की मांग को लेकर आज 9 अगस्त को महाराष्ट्र में बंद का आह्वान किया है। बंद के दौरान आंदलोन कर रहे आंदोलनकारी अचानक उग्र हो गए और आसपास की दुकानों में तोड़फोड़ शुरू कर दी।

बताया जा रहा है कि आंदोलनकारी आपस में ही किसी बात को लेकर भिड़ गए जिसके बाद आंदोलन हिंसक हो गया। आंदोलनकारी गाड़ियों में आग लगाने लगे और दुकानों में तोड़फोड़ शुरू कर दी। इतना ही नहीं उपद्रवियों ने पुणे डीएम ऑफिस को भी नहीं छोड़ा उसमें भी तोड़फोड़ की। हालात बेकाबू होते देख पुलिस को उपद्रवियों पर लाठीचार्ज करना पड़ा।

प्रदर्शनकारियों ने लातूर, जालना, सोलापुर और बुलधाना जिले में कई जगहों पर ट्रैफिक रोक दिया। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक प्रदर्शनकारियों ने पुणे के कुछ आईटी ऑफिस की बिल्डिंग पर भी पथराव किया और कांच तोड़ दिए। प्रदर्शनकारी एक आईटी ऑफिस में भी घुस गए और कर्मचारियों को धमकाते हुए घर जाने को कहा। बता दें कि मराठा समूहों के संघ सकल मराठा समाज ने नवी मुंबई को छोड़कर पूरे महाराष्ट्र में गुरुवार को बंद बुलाया है। ताकि आरक्षण के लिए समुदाय की मांग पर दबाव बनाया जा सके। अधिकारियों ने हिंसा की आशंका को देखते हुए कुछ इलाकों में स्कूलों और कॉलेजों को बंद रखने के आदेश दिए गए हैं।

1
Back to top button