मारिया को मिला एक और मौका खुद को साबित करने का

इंग्लिश फुटबॉल क्लब मैनचेस्टर युनाइटेड के साथ एंजेल डि मारिया का करियर केवल एक सत्र तक चला था|

इस सप्ताह 31 साल के होने जा रहे मारिया को चोटिल नेमार और एडिंसन कवानी की अनुपस्थिति में पीएसजी के लिए अहम भूमिका निभानी होगी।

इंग्लिश फुटबॉल क्लब मैनचेस्टर युनाइटेड के साथ एंजेल डि मारिया का करियर केवल एक सत्र तक चला था|

लेकिन अब वह ओल्ड ट्रैफर्ड में खुद को साबित करने के लिए बेकरार होंगे। मारिया की टीम पेरिस सेंट जर्मेन (पीएसजी) यूएफा चैंपियंस लीग के अंतिम-16 के पहले दौर के मुकाबले में युनाइटेड से भिड़ेगी।

इस सप्ताह 31 साल के होने जा रहे मारिया को चोटिल नेमार और एडिंसन कवानी की अनुपस्थिति में पीएसजी के लिए अहम भूमिका निभानी होगी।

मारिया को दिखाना होगा कि नेमार और कायलियन एमबापे के आने के दो साल पहले 2015 में पीएसजी ने क्यों उनके साथ करार किया था।

मारिया ने 2014-15 में इंग्लिश प्रीमियर लीग में खेले अपने 27 मुकाबलों में केवल तीन गोल किए थे जहां उनकी टीम चौथे स्थान पर रही थी।

इंग्लैंड में मारिया के परिवार को भी परेशानियों का सामना करना पड़ा था और उस दौरान उनके घर में सेंध लगाई गई थी जिसकी वजह से उनकी पत्नी और बेटी काफी डर गई थीं।

हाल ही में मारिया ने कहा था कि मैंने वहां केवल एक साल गुजारा था और वहां मेरा समय अच्छा नहीं रहा था या यूं कहें कि उन्होंने मुझे मेरा सर्वश्रेष्ठ समय वहां गुजारने नहीं दिया था।

उस समय कोच को मुझ से परेशानी थी, लेकिन भगवान का शुक्र है कि मैं पीएसजी में आया।

हालांकि युनाइटेड के खिलाफ पीएसजी का मुकाबला आसान नहीं होगा क्योंकि ओले गनर सोल्सकजेर की टीम इस समय शानदार फॉर्म में चल रही है।

Back to top button