स्वतंत्रता के अमृत महोत्सव में मैट्स ने दी शानदार प्रस्तुति

छत्तीसगढ़ निजी विश्वविद्यालय विनियामक आयोग द्वारा आनलाइन आयोजित स्वतंत्रता के अमृत महोत्सव कार्यक्रम में मैट्स विश्वविद्यालय ने शानदार प्रस्तुति दी जिसकी सभी ने सराहना की।

रायपुर। छत्तीसगढ़ निजी विश्वविद्यालय विनियामक आयोग द्वारा आनलाइन आयोजित स्वतंत्रता के अमृत महोत्सव कार्यक्रम में मैट्स विश्वविद्यालय ने शानदार प्रस्तुति दी जिसकी सभी ने सराहना की। इस समारोह में राज्य के सभी निजी विश्वविद्यालयों ने अपनी-अपनी रचनात्मक गतिविधयों के साथ उपलब्धियों को प्रस्तुत किया।

मैट्स विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. के.पी. यादव ने आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों द्वारा की गई विभिन्न रचनात्मक गतिविधयों से लेकर विश्वविद्यालय की विभिन्न कार्य योजनाओं एवं उपलब्धियों की विस्तार से जानकारी दी। कुलपति प्रो. यादव ने बताया कि नई शिक्षा नीति के तहत भारत को उच्च शिक्षा के क्षेत्र में ‘वैश्विक स्टडी डेस्टिनेशन’ बनाने के प्रयासों की दिशा में मैट्स यूनिवर्सिटी भी योगदान दे रही है।स्वतंत्रता के अमृत महोत्सव में मैट्स ने दी शानदार प्रस्तुति

हम विद्यार्थियों के सर्वांगीण विकास की दिशा में कार्यरत हैं जिससे उन्हें सिर्फ शिक्षा ही नहीं बल्कि नैतिक मूल्य भी प्राप्त हो सकें एवं उनके कैरियर का भी निर्माण हो सके। प्रो. यादव ने बताया कि मैट्स विश्वविद्यालय भारत सरकार के राष्ट्रीय मूल्यांकन एवं प्रत्यायन परिषद (नेक) से बी प्लस-प्लस ग्रे़ड प्राप्त करने वाला प्रथम निजी विश्वविद्यालय है। साथ ही, पहला ऐसा निजी विश्वविद्यालय भी है जो प्रदेश के दूरस्थ क्षेत्रों के अभावग्रस्त बच्चों को प्रतिवर्ष लगभग 80 प्रतिशत चांसलर स्कॉलरशिप उपलब्ध कराता है जिससे आर्थिक रूप से कमजोर बच्चे भी उच्च शिक्षा प्राप्त कर सकें।

राष्ट्रीय-अंरर्राष्ट्रीय महत्व 

हमारा उद्देश्य है गुणवत्ता से परिपूर्ण विश्वस्तरीय उच्च शिक्षा प्रदान कर विद्यार्थियों के कैरियर का निर्माण करना। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हम मैट्स यूनिवर्सिटी को विश्व स्तरीय संस्थान बनाने की ओर अग्रसर हैं। हमारे संस्थान से उच्च शिक्षा प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों को राष्ट्रीय-अंरर्राष्ट्रीय महत्व की संस्थाओं में अच्छे पद के साथ अच्छा वेतन प्राप्त करें, साथ ही वे उद्यमी बनकर आत्मिर्मभर बन सकें। हम विद्यार्थियों को उद्यमी बनाने पर ज्यादा जोर दे रहे हैं। इसके लिए मैट्स विश्वविद्यालय ने अनेक अंतर्राष्ट्रीय महत्व की संस्थाओं से एमओयू भी किया है। विश्वविद्यालय में कुल 12 विभाग हैं जिनके अंतर्गत विभिन्न विषयों के 76 पाठ्यक्रम सफलतापूर्वक संचालित किये जाते हैं।

मैट्स विश्वविद्यालय की प्रस्तुति की छत्तीसगढ़ निजी विश्वविद्यालय विनियामक आयोग एवं मार्ग उद्बोधक प्रो. पी.डी. शर्मा द्वारा द्वारा सराहना की गई। आयोग के पदाधिकारियों एवं सदस्यों ने कहा कि मैट्स विश्वविद्यालय की प्रस्तुति सराहनीय है और हमने देखा कि विद्यार्थियों को आजादी के अमृत महोत्सव के महत्व से अवगत कराकर अनेक रचनात्मक गतिविधियों का आयोजन किया गया है। इस प्रस्तुति से यह ज्ञात हुआ कि नई शिक्षा नीति के तहत दिये गये निर्देशों पर गंभीरता के साथ अमल करते हुए मैट्स विश्वविद्यालय द्वारा कार्य प्रारंभ कर दिया गया है।

यह प्रशंसनीय कदम है और सही समय पर सही दिशा में उठाया गया कदम है। हमने देखा कि विद्यार्थियों के सर्वाँगीण विकास को सुनिश्चित करने के लिए विश्वविद्यालय द्वारा अनेक सराहनीय प्रयास किये जा रहे हैं। जीवन मूल्यों पर आधारित शिक्षा के विकास की दिशा में भी अनेक कदम उठाये गये हैं। विद्यार्थियों ने आकर्षक सांस्कृत कार्यक्रम भी प्रस्तुत किये। इस अवसर पर मैट्स विश्वविद्यालय के कुलसचिव गोकुलानंदा पंडा सहित विभिन्न विभागों के विभागाध्यक्ष, प्राध्यापकगण एवं विद्यार्थीगण उपस्थित थे।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button