मौलाना साद के ठिकाने का चला पता,क्वारनटीन में है मौलाना

दिल्ली पुलिस के सूत्रों ने बताया कि मौलाना साद से अभी पूछताछ नहीं किया जा सकता है.

नई दिल्ली: देश में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या 5000 से पार कर गई है. पिछले एक हफ्ते में कोरोना संक्रमितों की संख्या दोगुनी हुई है. संक्रमितों की संख्या में हुई बढ़ोतरी के पीछे तबलीगी जमात को जिम्मेदार ठहराया जा रहा है. जमात के चीफ मौलाना साद अब तक फरार हैं. दिल्ली पुलिस के सूत्रों के मुताबिक, मौलाना साद को दिल्ली के जाकिर नगर में ट्रेस कर लिया गया है.

जानकारी के मुताबिक दिल्ली पुलिस के सूत्रों ने बताया कि मौलाना साद से अभी पूछताछ नहीं किया जा सकता है. दरअसल, जमात से जुड़े अधिकतर लोगों में जिस तरह से कोरोना की पुष्टि हुई है, उससे खतरा है कि मौलाना साद भी कोरोना की चपेट में न आ गए हों. एहतियात के तौर दिल्ली पुलिस अभी मौलाना साद के क्वारनटीन अवधि के पूरा होने का इंतजार कर रही है.

निजामुद्दीन स्थित मरकज से 6-7 रजिस्टर सीज किए 

दिल्ली पुलिस ने मौलाना साद से कुछ डॉक्यूमेंट जरूर मांगे हैं. इस बीच निजामुद्दीन स्थित मरकज से 6-7 रजिस्टर भी सीज किए गए हैं. इसमें मरकज में आने-जाने वालों का नाम और कुछ जानकारियां हैं. क्राइम ब्रांच की टीम रजिस्टर खंगाल रही है. साथ ही मरकज से जुड़े कुछ लोगों से पूछताछ भी की जा रही है.

गौरतलब है कि दिल्ली में अब तक कोरोना के 576 मामले सामने आए हैं, जिसमें 333 का मरकज कनेक्शन सामने आया है. ठीक इसी तरह उत्तर प्रदेश में 300 से अधिक मामले सामने आए हैं, जिसमें 160 से अधिक मामलों का कनेक्शन मरकज से है. महाराष्ट्र, तमिलनाडु समेत कई प्रदेशों में भी जमातियों में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है.

तबलीगी जमात का कोरोना कनेक्शन सामने आने के बाद निजामुद्दीन एसएचओ की तहरीर पर मौलाना साद समेत सात लोगों पर एफआईआर दर्ज की गई थी. इस मामले में सभी सातों आरोपी फरार है. पुलिस ने मौलाना साद की तलाश में उत्तर प्रदेश के शामली से लेकर दिल्ली में कई जगहों पर छापेमारी भी की थी.

Tags
Back to top button