मैक्सवेल ने छोड़ा धोनी का कैच और फिर करी खुद की खिंचाई

भारत की पारी के 17वें ओवर में मार्कस स्टोइनिस ने शिखर धवन को आउट किया था।

महेंद्रसिंह धोनी ने शुक्रवार को भारत को ऑस्ट्रेलिया पर तीसरे वनडे में 7 विकेट से जीत दिलाई। धोनी ने 87 रनों की नाबाद पारी खेलते हुए टीम की जीत में अहम भूमिका निभाई।

धोनी का पहली ही गेंद पर ग्लेन मैक्सवेल ने कैच छोड़ा था और मैक्सवेल ने अब अपनी इस गलती के लिए खुद की खिंचाई की।

भारत की पारी के 17वें ओवर में मार्कस स्टोइनिस ने शिखर धवन को आउट किया था। धोनी क्रीज पर उतरे और स्टोइनिस की अगली ही गेंद पर बैकवर्ड पाइंट पर मैक्सवेल ने उनका आसान कैच छोड़ दिया।

मैक्सवेल एक अच्छे फील्डर हैं और उनके स्तर के अनुसार यह बहुत आसान कैच था लेकिन वे इसे लपक नहीं पाए और यह कैच टीम को बहुत महंगा पड़ा था।

मैक्सवेल ने यह कैच छोड़ा और ऑस्ट्रेलिया ने मैच के साथ-साथ सीरीज भी गंवा दी।

इस मैच के एक दिन बाद शनिवार को हैदी बिर्केट ने सनसनीखेज कैच लपकते हुए ब्रिस्बेन हीट को पहली बार महिला बिग बैश लीग के फाइनल में पहुंचा दिया।

सिडनी थंडर को अंतिम गेंद पर जीत के लिए 5 रन चाहिए थे जोनासेन की गेंद पर कैरी ने स्क्वेयर लेग की तरफ शॉट खेला, ऐसा लगा कि छक्का हो जाएगा लेकिन हैदी बिर्केट ने लंबी दौड़ लगाकर सही अंदाज के साथ डाइव लगाकर कैच लपक किया।

गेंदबाज जोनासेन तो निराश हो गई थी लेकिन बिर्केट को कैच लेता देख वे खुशी से झूम उठी। मैक्सवेल ने हैदी बिर्केट की इस शानदार कैच के लिए प्रशंसा की और साथ में धोनी का कैच छोड़ने के लिए खुद की खिंचाई भी की। उन्होंने इसी के साथ बिर्केट से कैचिंग की टिप्स भी मांग ली।

1
Back to top button