छत्तीसगढ़

महापौर प्रमोद दुबे रायपुर दक्षिण से होंगे कांग्रेस के उम्मीवार, हॉ – ना में अटकी बात

-भाजपा के कद्दावर मंत्री बृजमोहन अग्रवाल को घेरने कांग्रेस की तैयारी

रायपुर।

बड़ी खबर ये है कि भाजपा के कद्दावर मंत्री बृजमोहन अग्रवाल की जीत चुराने के लिए पार्टी इस बार रायपुर नगर निगम के महापौर प्रमोद दुबे को रायपुर दक्षिण सीट से चुनाव में उतारने की तैयारी कर रही है।

कांग्रेस के जिन 45 उम्मीदवारों की सूची शनिवार को सोशल मीडिया में जमकर वायरल हुई
उसे प्रदेश महामंत्री गिरिश देवांगन भले ही फर्जी बता रहे
पर कांग्रेस भवन के अंदरखाने से आने वाली आवाज अब सियासी शोर में बदलती जा रही है।

हालांकि पार्टी के बड़े चेहरे सूची के बारे में कुछ भी कहने से बच रहे हैं पर
उनका भी मानना है कि वायरल सूची के ज्यादातर नाम लगभग तय हैं।

बता दें कि वारयल सूची में रायपुर उत्तर से पूर्व विधायक कुलदीप जुनेजा का नाम है।
जुनेजा की टिकट फाइनल होने के पीछे तर्क दिया जा रहा है कि इनके समर्थन में चार दावेदारों ने अपना नाम वापस भी लिया है।

वहीं रायपुर पश्चिम से विकास उपाध्याय का नाम दिया है, जो पिछले चुनाव के भी प्रत्याशी रहे हैं।
वायरल सूची में महापौर प्रमोद दुबे का नाम नहीं और न ही सूची में रायपुर दक्षिण विधानसभा का जिक्र है।
सूत्रों का कहना है प्रमोद दुबे को मंत्री बृजमोहन अग्रवाल के खिलाफ मैदान में उताया जाएगा।

-ये है चुनावी गणित

रायपुर दक्षिण विधानसभा सीट के 26 नगर निगम वॉर्डों में कांग्रेस के पार्षद बहुसंख्यक होने के कारण
विधानसभा चुनाव में इस सीट पर कांग्रेस को अपना पलड़ा भारी होने की उम्मीद है।

पार्टी के पार्षदों का दबाव है कि रायपुर नगर निगम के मौजूदा महापौर प्रमोद दुबे को इस सीट से कांग्रेस की टिकट पर मैदान में लाया जाए।
कहा जाता है कि इन पार्षदों ने पार्टी नेतृत्व को इस बात का भरोसा दिलाने के लिए पूरी कोशिशें शुरू कर दी हैं कि
अगर महापौर को रायपुर दक्षिण सीट से आजमाया गया तो पार्टी के सभी मौजूदा पार्षद उनकी जीत सुनिश्चित करने के लिए अपनी पूरी ताकत लगा देंगे।

-विचार विमर्श के दौर

कांग्रेस के जानकार सूत्रों की मानें तो पार्टी इस विषय में अब तक विचार विमर्श के दौर से गुजर रही है।
हालांकि दक्षिण रायपुर विधानसभा सीट के कई ऐसे पार्षद भी हैं,
जो खुद ही विधानसभा चुनाव लड़ने के लिए कांग्रेस के टिकट की दावेदारी कर रहे हैं
लेकिन प्रमोद दुबे को राज्य सरकार के कद्दावर मंत्री और अब तक के राजनीतिक जीवन में कोई चुनाव नहीं हारने वाले
भाजपा नेता बृजमोहन अग्रवाल के खिलाफ रायपुर दक्षिण टिकट देने पर विचार किया जा रहा है।

निश्चित रूप से बृजमोहन अग्रवाल के खिलाफ प्रमोद दुबे को चुनाव लड़वाने पर चुनाव काफी दिलचस्प हो जाएगा।
दुबे ने महापौर के रूप में बेहतर काम किया है। सार्वजनिक कार्यक्रमों में उनकी भागीदारी काफी अधिक रही है।
हालांकि बृजमोहन अग्रवाल को उनकी सामाजिक सक्रियता के लिए जाना जाता रहा है,
लेकिन प्रमोद दुबे से उन्हें खासी टक्कर मिल सकती है।

गेंद अब महापौर प्रमोद दुबे के पाले में

बता दें कि विधानसभा चुनाव पार्टी उम्मीदवार बनाए जाने का कांग्रेस में जो क्राइटेरिया तय हुआ है
उसमें पार्टी के संगठन प्रभारी व महापौर को उम्मीदवार नहीं बनाए जाने की बात कही गई,
पर ये कहा जाने लगा है कि जरूरत पड़ने पर सिर्फ विनिंग कंडिडेट को पार्टी पहली प्राथमिकता देगी
महापौर प्रमोद दुबे की छबि इस पर फीट बैठ रही है।

दूसरी ओर इसे संगठन में आपसी गुटबाजी से जोड़कर देखा जा रहा है।
हालांकि महापौर रायपुर दक्षिण विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ने से मना कर चुके हैं पर
बनते बिगड़ते चुनावी समीकरण में इसके लिए राजी हो सकते हैं।
बता दें कि राजधानी के महापौर होने के कारण प्रमोद कई अवसरों पर
दिल्ली जाकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात करते रहे हैं लिहाजा वे कांग्रेस अध्यक्ष की गुडबुक में भी शामिल है।

आने वाले समय में वे मंत्री बृजमोहन अग्रवाल के खिलाफ वे चुनाव लड़ने तैयार होंगे या नहीं
इस जवाब कांग्रेस उम्मीदवारों की अंतिम सूची जारी होने पर सामने आ जाएगा।

 


ताज़ा हिंदी खबरों के साथ अपने आप को अपडेट रखिये.
और हमसे जुड़िये
फेसबुक और ट्विटर के ज़रिये

Summary
Review Date
Reviewed Item
महापौर प्रमोद दुबे रायपुर दक्षिण से होंगे कांग्रेस के उम्मीवार, हॉ - ना में अटकी बात
Author Rating
51star1star1star1star1star
congress cg advertisement congress cg advertisement
Tags