राष्ट्रीय

CM केजरीवाल के घर के बाहर महापौरों का धरना जारी, मनोज तिवारी और गौतम गंभीर भी हुए शामिल

दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष अवधेश गुप्ता ने कहा कि अगर मुख्यमंत्री संवेदनशील होते तो वह उन निगमों को बकाया भुगतान करते जिनके कर्मचारी कोरोना योद्धाओं के रूप में महामारी से लड़ाई लड़ रहे हैं.

नई दिल्ली: मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास के बाहर बीजेपी शासित नगर निगमों के महापौरों और नेताओं के जारी अनिश्चितकालीन धरना बुधवार को तीसरे दिन भी जारी रहा. साथ ही इसमें पार्टी के सांसद मनोज तिवारी और गौतम गंभीर ने भी भाग लिया है.

13000 करोड़ रुपये की बकाया धनराशि के भुगतान की कर रहे मांग

दिल्ली के तीन नगर निगमों-उत्तर, दक्षिण और पूर्वी दिल्ली, के महापौर जयप्रकाश, अनामिका मिथिलेश और निर्मल जैन कई महिला पार्षदों के साथ सोमवार से केजरीवाल के फ्लैगस्टाफ रोड स्थित आवास के बाहर धरना दे रहे हैं. ये सभी दिल्ली सरकार से 13000 करोड़ रुपये की बकाया धनराशि के भुगतान की मांग कर रहे हैं. धरने में शामिल हुए सांसद मनोज तिवारी ने कहा, “हालांकि केजरीवाल खुद को ‘आम आदमी’ कहते हैं, लेकिन वह मूल रूप से आम आदमी के खिलाफ हैं. यही कारण है कि उनकी सरकार ने नगर निगमों को 13000 करोड़ रुपये के बकाये का भुगतान नहीं किया है. जबकि इस राशि से सफाईकर्मियों, डॉक्टरों, नर्सों और अन्य कर्मचारियों को वेतन भुगतान करने में मदद मिलती है.”

बीजेपी सांसद मीनाक्षी लेखी और प्रवेश वर्मा भी विरोध प्रदर्शन में शामिल हुए

दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष अवधेश गुप्ता ने कहा कि अगर मुख्यमंत्री संवेदनशील होते तो वह उन निगमों को बकाया भुगतान करते जिनके कर्मचारी कोरोना योद्धाओं के रूप में महामारी से लड़ाई लड़ रहे हैं. इससे पहले बीजेपी सांसद मीनाक्षी लेखी और प्रवेश वर्मा ने मंगलवार को विरोध प्रदर्शन कर रहे नगर निगम के नेताओं से मुलाकात की थी और विरोध प्रदर्शन में शामिल हुए. केजरीवाल सहित आप नेताओं ने बीजेपी के शासित तीन नगर निगमों में ‘भ्रष्टाचार और कुप्रबंधन’ का आरोप लगाया है और दावा किया है कि समस्त देय धनराशि का निगमों को जारी की जा चुकी है.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button