विदेश मंत्रालय ने अपने ही फैसले को पलटा, पासपोर्ट को लेकर दिया ये बयान

विदेश मंत्रालय ने अपने ही फैसले को पलटा, पासपोर्ट को लेकर दिया ये बयान

नई दिल्ली: विदेश मंत्रालय ने मंगलवार (30 जनवरी) रात घोषणा की कि इसने ईसीआर दर्जे के लोगों को नारंगी रंग का पासपोर्ट जारी करने के अपने निर्णय को वापस ले लिया है. साथ ही अंतिम पन्ने पर निजी ब्यौरा अंकित करने पर भी निर्णय वापस ले लिया है. मंत्रालय ने बताया कि विदेश मंत्री सुषमा स्वराज की अध्यक्षता में सोमवार (29 जनवरी) को हुई बैठक में यह निर्णय किया गया जिसमें विदेश राज्यमंत्री वी के सिंह एवं अन्य ने शिरकत की. विदेश मंत्रालय ने बयान जारी कर बताया कि एमईए और महिला एवं बाल विकास मंत्रालय के अधिकारियों की तीन सदस्यीय समिति की अनुशंसा पर निर्णय किया गया कि पासपोर्ट के अंतिम पन्ने पर प्रिंट नहीं किया जाएगा.

इससे पहले मंत्रालय ने ईसीआर दर्जे वाले पासपोर्ट धारकों के पासपोर्ट का रंग नारंगी करने का निर्णय किया था ताकि उनका प्राथमिकता के आधार पर सहयोग किया जा सके. इसने कहा, ‘‘एमईए को कई लोगों और प्रतिनिधिमंडल ने आग्रह किया कि इन दोनों निर्णयों पर पुनर्विचार करें… एमईए के इन दोनों निर्णयों की समीक्षा की गई.’’

विभिन्न पक्षों के साथ विस्तृत चर्चा के बाद ‘‘एमईए ने अंतिम पन्ने पर प्रिटिंग करने के निर्णय को जारी रखने और ईसीआर पासपोर्ट धारकों को अलग से नारंगी रंग का पासपोर्ट जारी नहीं करने का निर्णय किया है.’’ एमईए के निर्णय का कांग्रेस सहित राजनीतिक दलों ने विरोध किया था जिसने कहा कि ईसीआर श्रेणी के लोगों को अलग से नारंगी रंग का पासपोर्ट जारी करना भाजपा की ‘‘भेदभाव वाली मानसिकता’’ को दर्शाता है.

1
Back to top button