छत्तीसगढ़

मुख्यमंत्री बाल हृदय योजना से 5 माह की मीनाक्षी को मिला नया जीवन

मुख्यमंत्री बाल हृदय योजना से 5 माह की मीनाक्षी को मिला नया जीवन

बिलासपुर । बिलासपुर जिले के विकासखण्ड गौरेला के ग्राम सधवानी की 5 माह की मासूम मीनाक्षी को बाल हृदय सुरक्षा योजना से नया जीवन मिला। अब वह गंभीर और लाईलाज मानी जा रही दिल की बीमारी से मुक्त हो गई है।

नन्ही बच्ची मीनाक्षी मरावी अब स्वस्थ जीवन जी सकती है। यह चिरायु कार्यक्रम और बाल हृदय सुरक्षा योजना से संभव हुआ है। चिरायु दल के चिकित्सकों ने मीनाक्षी को चेन्नई लेजाकर सफल आपरेशन कराया और वह पूरी तरह से स्वस्थ है। मीनाक्षी को दुर्लभ जानलेवा दिल की बीमारी थी, जिसका ईलाज पूरे छत्तीसगढ़ में संभव नहीं था। उसका ईलाज सिम्स में चल रहा था। इसी दौरान चिरायु दल के चिकित्सकों ने सिम्स भ्रमण के दौरान मीनाक्षी को देखा और उसके संबंध में जानकारी ली। उन्होंने जाना कि बच्ची अति दुर्लभ बीमारी से ग्रसित है, जिसे बचा पाना संभव नहीं है।

इसके बाद चिरायु दल ने बच्ची को बचाने का जिम्मा उठाते हुए उसे अपोलो अस्पताल में भर्ती कर परीक्षण कराया। वहां पता चला कि बच्ची का आपरेशन अपोलो अस्पताल चेन्नई में हो सकता है और यह आपरेशन 20 दिनों के अंदर करना ही आवश्यक है। जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग ने बच्ची को तत्काल चेन्नई अपोलो भेजने की व्यवस्था की। विगत मार्च महिने में मीनाक्षी का चेन्नई में सफल आपरेशन किया गया और वह 15 दिनों में स्वस्थ होकर घर वापस आ गई। मीनाक्षी के माता-पिता बहुत खुश है कि बाल हृदय सुरक्षा योजना और चिरायु योजना जैसे अभिनव योजनाओं के कारण ही उनकी बेटी को नया जीवन मिला है और उनकी गोद खुशियों से भर गई है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.