वेटलिफ्टिंग में मीराबाई चानू ने भारत को दिलाया पहला गोल्ड

196 किलो भार उठाकर रचा इतिहास, पुरुष वर्ग में गुरुराजा ने जीता सिल्वर

गोल्ड कोस्ट: 21वें कॉमनवेल्थ गेम्स में आज महिला वेटलिफ्टर मीराबाई चानू ने देश के लिए पहला गोल्ड मेडल हासिल किया. मीरा ने कुल 196 किलो भार उठाकर इतिहास रचा. 2014 ग्लास्गो कॉमनवेल्थ खेलों में चानू ने 48 किलो वर्ग में देश के लिए रजत पदक जीता था. वहीं, इससे पहले पुरुषों में भारत के गुरुराजा ने कुल 249 किलोग्राम उठाकर सिल्वर मेडल जीत लिया और देश को पहला पदक दिलाया. गोल्ड मेडल मलेशिया के इजहार अहमद ने जीता. श्रीलंका के चतुरंगा लकमल ने ब्रॉन्ज जीता.

आॅस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में 11 दिन तक चलने वाले इन खेलों में भारत के 200 से ज्यादा एथलीट हिस्सा ले रहे हैं. साल 2014 में भारत ने ग्लास्गो कॉमनवेल्थ खेलों में 64 पदक हासिल किए थे. इस बार चुनौती इससे ज्यादा पदक लाने की है.

बैडमिंटन भारत 5-0 से आगे

भारतीय बैडमिंटन टीम ने 21वें राष्ट्रमंडल खेलों में अपना पहला मुकाबला जीत लिया है. भारत ने गुरुवार को कैरारा स्पोटर्स एरेना-2 में मिश्रित टीम स्पर्धा के ग्रुप-ए में श्रीलंका को 5-0 से मात दी. मुकाबले के पहले मैच में मिश्रित युगल में भारत के प्रणव चैरी चोपड़ा और रुतविका गडे का सामना श्रीलंका के सचिन दियास और थिलिनि प्रामोडिका हेंडाहेवा से था. भारतीय जोड़ी ने अपने विपक्षी को 21-15, 19-21, 22-20 से मात देते हुए टीम को 1-0 से आगे कर दिया. दूसरा मुकाबला पुरुष एकल वर्ग में था जिसमें भारत के किदाम्बी श्रीकांत और श्रीलंका निकुला करुणारत्ने कोर्ट पर थे. भारतीय खिलाड़ी ने आसानी से 21-16, 21-10 से मैच अपने नाम कर मुकाबले में भारत को 2-0 से आगे कर दिया.

अगला मुकाबला महिला एकल वर्ग में था जिसमें भारत की साइना नेहवाल कोर्ट पर थीं। विश्व की इस दिग्गज खिलाड़ी को श्रीलंका की मधुशिका दिलरुक्शी बेरूवेलागे को मात देने में कोई भी परेशानी नहीं हुई। साइना ने यह मैच 21-8, 21-4 से अपने नाम किया. आखिरी मैच महिला युगल का था जिसमें अश्विनी पोनप्पा और एन. सिक्की रेड्डी को थिलिनि तथा काविडि सिरिमानागे से भिड़ना था। भारतीय जोड़ी इस मुकाबले में भी श्रीलंका पर हावी रही और 21-12, 21-14 से मैच जीत मुकाबला 5-0 से अपने नाम किया।

Back to top button