मेरठ: प्रॉपर्टी डीलर के ऑफिस पर छापा , 25 करोड़ रुपए की पुरानी करेंसी बरामद

नोटबंदी के बाद मेरठ पुलिस के हाथ शुक्रवार को सबसे बड़ी सफलता हाथ लगी है. दिल्ली रोड पर राजकमल एन्क्लेव में एक प्रॉपर्टी डीलर के ऑफिस पर छापा मारकर पुलिस ने 25 करोड़ रुपए की पुरानी करेंसी बरामद की है

मेरठ: प्रॉपर्टी डीलर के ऑफिस पर छापा , 25 करोड़ रुपए की पुरानी करेंसी बरामद

नोटबंदी के बाद मेरठ पुलिस के हाथ शुक्रवार को सबसे बड़ी सफलता हाथ लगी है. दिल्ली रोड पर राजकमल एन्क्लेव में एक प्रॉपर्टी डीलर के ऑफिस पर छापा मारकर पुलिस ने 25 करोड़ रुपए की पुरानी करेंसी बरामद की है.

मौके से पुलिस ने चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है. यह ऑफिस प्रॉपर्टी डीलर संजीव मित्तल का है, जो पुलिस का छापा पड़ते ही फरार हो गया. पकड़े गए लोगों से पुलिस टीम गहन पूछताछ कर रही है. एसएसपी मंजिल सैनी के मुताबिक दिल्ली के एक व्यक्ति के जरिए कमीशन पर पुराने नोट बदलने का सौदा तय हुआ था.

पुलिस पिछले आठ 10 दिन से इंटरसेक्शन सर्विलांस और अन्य माध्यमों से इस पर नजर बनाई हुई थी. इसी सटीक सूचना पर कंकरखेड़ा इंस्पेक्टर दीपक शर्मा ने दिल्ली रोड पर राजकमल एंक्लेव में मंदिर के सामने स्थित प्रॉपर्टी डीलर संजीव मित्तल के कार्यालय पर छापा मारा. जहां पुलिस टीम ने ऑफिस के भीतर प्लास्टिक के 10 कट्टों में तकरीबन 25 करोड़ रुपए की पुरानी करेंसी बरामद की.

पुलिस ने सौदा कराने वाले दिल्ली के व्यक्ति सहित चार आरोपियों को मौके से गिरफ्तार किया है. पुलिस का दावा है कि नोटबंदी के बाद से अब तक की यह सबसे बड़ी रिकवरी है. इस रिकवरी के बाद मेरठ में हड़कंप मचा हुआ है.

संजीव मित्तल के मेरठ में तीन प्रोजेक्ट

संजीव मित्तल के मेरठ में तीन प्रोजेक्ट हैं. एक कंकरखेड़ा में डिफेन्स-58 प्रोजेक्ट, बिजलीबंबा बाईपास पर प्रो-व्यू ऋषभ प्रोजेक्ट और तीसरा बिजलीबंबा बाईपास. बता दें कि दि ग्रांड प्रोजेक्ट में संजीव मित्तल ने अपने पार्टनर से हेराफेरी की थी. वहीं संजीव मित्तल के खिलाफ परतापुर थाने में केस दर्ज है. फिलहाल पुलिस आरोपी की तलाश में छापेमारी कर रही है.

advt
Back to top button