जिला बाल संरक्षण समिति की बैठक सम्पन्न, बच्चों के संरक्षण के लिए लोगों को जागरूक करने पर बल

जिला बाल संरक्षण समिति की बैठक सम्पन्न, बच्चों के संरक्षण के लिए लोगों को जागरूक करने पर बल

गरियाबंद : जिला बाल संरक्षण समिति की त्रैमासिक बैठक जिला कार्यालय के सभाकक्ष में आयोजित की गई। बैठक में संयुक्त कलेक्टर ओ.पी. कोसरिया ने बच्चे की गोद लेने की प्रक्रिया के बारे में आमजनों को जानकारी देने तथा दत्तक ग्रहण विनियम 2017 का व्यापक प्रचार प्रसार किया जाने के निर्देश दिये।

उन्होंने दत्तक ग्रहण हेतु शासकीय चिकित्सालयो, जिला बाल संरक्षण इकाई व सखी केन्द्रों मे शिशु पालना घर स्थापित किये जाने के निर्देश दिये। बैठक मे बच्चों की सहायता के लिए स्थापित निःशुल्क चाईल्ड हेल्पलाईन नंबर 1098 का अधिक से अधिक प्रचार-प्रसार करने के निर्देश दिये गये, जिसके लिए स्कूलो, छात्रावासो आश्रमो अस्पताल,

पंचायत भवनों एवं आंगनबाड़ी केन्द्रो मे दीवाल लेखन करने के अलावा व्यापक प्रचार-प्रसार करने के निर्देश दिये गये है। बच्चो के अवैध प्रवास, लोगों के पलायन के संबंध मे कड़ी निगरानी रखने व बाल मजदूरी के मामलो मे भी आवश्यक कार्यवाही किये जाने हेतु कहा गया है।

स्वास्थ्य विभाग को समय-समय पर स्वास्थ्य शिविर आयोजित करने के निर्देश दिये गये। एवं सतत् परीक्षण करने कहा गया। शिक्षा विभाग को अनिवार्य शिक्षा के अंतर्गत शाला त्यागी बच्चो को अनिवायर्तः स्कूल मे निःशुल्क दाखिला कराये जाने के निर्देश दिये गये है।

पंचायतो मे गठित पंचायत स्तरीय बाल संरक्षण समिति के कार्य एवं दायित्व के संबंध मे अवगत कराया गया एवं पंचायत के अध्यक्ष व सदस्यों को रजिस्टर का संधारण करने हेतु पत्र प्रेषित किये जाने के निर्देश दिये गये है।

पंचायत एवं ग्रामसभा में भी इस संबंध में चर्चा करने के निर्देश दिये गये। बच्चो के संरक्षण के लिए विभिन्न विभागो से समन्वय बनाकर बच्चो के अधिकार के संबंध मे कार्य किये जाने का निर्देश दिया गया है।

स्कूल में बच्चों के विकास और अधिकार से संबंधित बाल फिल्म दिखाने पर भी चर्चा हुई तथा समिति के सदस्यों को स्कूलों में बच्चों को समय सारिणी बनाकर जागरूक करने पर जोर दिया गया, साथ ही श्रम विभाग के साथ समन्वय कर बाल श्रमिकों की पहचान करने और आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिये।

advt
Back to top button