पॉलीथिन मुक्ति हेतु ग्रीनआर्मी ऑफ रायपुर का बैठक सम्पन्न

रायपुर. जनसंर्पक अधिकारी शशीकान्त यदु ने बताया कि ग्रीन आर्मी ऑफ रायपुर शहर को पॉलीथिन मुक्त करने के उद्देश्य से निरंतर बैठक के माध्यम से कार्ययोजना तैयार कर रही है, और विभिन्न बाजारों, में जाकर अभियान भी चला रही है। संस्था प्रत्येक शनिवार रायपुर के अलग- अलग बाजारों में जाकर कपडे़ एवं पेपर कागज के थैले का वितरण कर रही है साथ में लोगों का ध्यान आकर्षित करने के उद्देश्य से नुक्कड़ नाटक का आयोजन भी कर रही हैं, संस्था अपने मुलभूत उद्देश्य पॉलीथिन मुक्त हो रायपुर हमारा को लेकर रायपुर शहर में निरंतर कार्य कर रही है।

रायपुर शहर के विभिन्न बडे बाजार जैसे शास़्त्री बाजार, देवपुरी बाजार, भांठागांव बाजार, रायपुरा बाजार, आमानाका बाजार, शितला बाजार, रायपुरा बाजार, भांठागांव बाजार, मुख्य रूप से संस्था के ऐजेंन्डे में शामील है। यह वह बाजार है जहां अधिक संख्या में लोग खरीददारी करने आते है।

इन स्थानों में संस्था लगातार प्रत्येक शनिवार 3 माह कार्य करेगी इसके पश्चात संस्था नगर निगम के साथ मिलकर अनिश्चित कालिन कार्य करेंगी इस कार्य के लिये ग्रीन आर्मी ऑफ रायपुर शहर के युवाओं, स्कुल, कालेज के छात्र-छात्राओं एवं सर्वधर्म समाज के प्रबुद्धजनों को भी जोड रही है साथ कैटर्स, सामाजिक भवन, धमार्थ स्थानों पर पॉलीथिन पाबंधी का स्टीगर लगाया जा रहा है। बैठक का मुख्य उद्देश्य शहरवासीयों से पॉलीथिन मुक्ति हेतु विचार जानना एवं उसे कार्यरूप में परिवर्तन करना है, बैठक मंे सभी समाज धर्म के लोग शामील होते है और रायपुर शहर को पॉलीथिन मुक्त करने अपने विचार व्यक्त करते हैं, संस्था द्वारा प्रत्येक बुधवार को वृन्दावन सिविल लाईन में बैठक आयोजित किया जाता है जिसे प्रत्येक शनिवार को समिति के सदस्यों द्वारा विभिन्न बाजारों में प्रायोगिक किया जाता है, संस्था के संस्थापक श्री अमिताभ दुबे ने रायपुर वासियों से अपिल किया है कि पॉलीथिन मुक्ति में शहरवासी हमारा साथ देवे एवं दुर्गामी पॉलीथिन के धातक परिणाम से बचे।

संस्था की सप्ताहिक बैठक में मुख्य रूप से श्रीमति रात्रि लहरी, श्रीमति हरदीप कौर, निलम अग्रवाल, नेहा यदु, गोपा शर्मा, गुरदीप टुटेजा, अनिल वर्मा, आर.बी. साहू, कविता जी, प्रकाश दिवान जी, एवं संस्था के विभिन्न गणमान्य नागरीक उपस्थित रहे, उपस्थित सभी सदस्यों को संस्थापक श्री अमिताभ दुबे ने आभार व्यक्त किया है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button