छत्तीसगढ़

CM की अध्यक्षता में बिलासपुर सीवरेज परियोजना के संबंध में जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों के साथ बैठक सम्पन्न

सुरक्षा मानकों के अनुरूप सीवरेज परियोजना पूर्ण करने का लिया निर्णय

रायपुर: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की अध्यक्षता में आज यहां विधानसभा स्थित समिति कक्ष में बिलासपुर सीवरेज परियोजना और निगम क्षेत्र अंतर्गत समस्याओं के निराकरण के संबंध में जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों के साथ बैठक हुई। बैठक में सुरक्षा मानकों का पालन करते हुए गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखते हुए सीवरेज परियोजना पूर्ण करने का निर्णय लिया गया है।

मुख्यमंत्री ने कार्यों के दैनंदिन पर्यवेक्षण हेतु विशेष अमला गठित कर कार्य कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि चूंकि यह परियोजना पूर्णतः की ओर है, अतः आम जनता और स्थानीय जनप्रतिनिधियों से राय लेकर परियोजना पूर्ण की जाए। बघेल ने कहा कि परियोजना पूर्ण करने के साथ आम लोगों को स्थायी और अच्छी सुविधा दिलाना हमारा उद्देश्य है।

डॉ. डहरिया ने बैठक में कहा कि किसी परियोजना को तैयार होने में समय और धन राशि दोनों खर्च होते हैं। बिलासपुर की सीवरेज परियोजना प्रदेश में पहला भूमिगत सीवरेज परियोजना है। यह कार्य लगभग पूर्ण होने वाला है। शहर को स्वच्छ रखना और लोगों के लिए शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराना सरकार की प्राथमिकता है, अतः इस कार्य को गुणवत्ता के साथ पूर्ण किया जाए। डॉ. डहरिया ने जिन क्षेत्रों में सीवरेज परियोजना का कार्य पूर्ण हो गया हो, वहां हाईड्रोलिक टेस्टिंग कराने के निर्देश अधिकारियों को दिए।

इसके अतिरिक्त इस परियोजना के गुणवत्तापूर्ण निर्माण के लिए परियोजना से जुड़े विशेषज्ञों की सलाह पर बल दिया। योजना पूर्ण होने में विलम्ब ना हो इस पर विशेष ध्यान दिया जाए। लोरमी विधायक धरमजीत सिंह, बिलासपुर विधायक शैलेष पाण्डेय, तखतपुर विधायक रश्मि सिंह, बेलतरा विधायक रजनिश सिंह, नगर पालिक निगम बिलासपुर के महापौर किशोर राय ने परियोजना पूर्ण करने के संबंध में अपने-अपने सुझाव दिए।

बैठक में अधिकारियों ने मुख्यमंत्री एवं उपस्थित जनप्रतिनिधियों को भूमिगत सीवरेज परियोजना के बारे में विस्तार से जानकारी दी। अधिकारियों ने बताया कि यह परियोजना वर्ष 2008 में स्वीकृत हुई थी। इसकी परियोजना लागत 206 करोड़ थी। वर्तमान में इसकी परियोजना लागत बढ़कर 402 करोड़ हो गई है। परियोजना के तहत बिलासपुर शहर में 238 किलोमीटर सीवरेज कार्य किया जाना है।

अब तक लगभग 235 किलोमीटर सीवरेज कार्य पूर्ण हो चुका है। परियोजना के अंतर्गत कुल 80 प्रतिशत कार्य पूर्ण हो चुका है। जिसमें सीवरेज लाईन का कार्य 98 प्रतिशत पूर्ण कर लिया गया है। मुख्यमंत्री ने शेष 20 प्रतिशत कार्य को माह दिसम्बर 2019 तक पूर्ण करने के निर्देश दिए। बैठक में नगरीय प्रशासन विभाग की विशेष सचिव अलरमेल मंगई डी सहित संबंधित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे.

Tags
Back to top button