बालगृह के बच्चों को शिक्षा का महत्व समझाने अफसरों से करायी जा रही हैं मुलाकातें

भविष्य के लिए महत्वाकांक्षा जगाना मकसद

रायपुर, 12 नवम्बर 2021: बच्चों में आगे बढ़ने की ललक और कैरियर की समझ विकसित करने के लिए महिला एवं बाल विकास विभाग ने नई पहल की है। विभाग के मुंगेली जिला कार्यालय द्वारा अपने माता-पिता और परिवार से विभिन्न कारणों से अलग बालगृह में रह रहे बच्चों को जिले के कलेक्टर-एस.पी जैसे शासकीय उच्च अधिकारियों से मिलवाने के साथ उनके कार्यालय के काम-काज को दिखाया जा रहा है, जिससे बच्चे शिक्षा का महत्व समझ सके। इस पहल से कई मासूमों की चेहरे खिल उठे और उन्होंने पढ़ाई कर आगे बढ़ने का संकल्प भी लिया।

इस कड़ी में बीते दिनों बालगृह के बच्चों को कलेक्टर और एसपी कार्यालय दिखाने के साथ यह समझाया गया कि अफसर कैसे काम करते हैं। बच्चों से जिला कलेक्टर ने भी मुलाकात की और उन्हें आगे बढ़ने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने कहा कि महत्वाकांक्षा के बीज बहुत कम उम्र में पड़ते हैं। बच्चों की बड़े अधिकारियों से मुलाकात से बच्चों के मन में कलेक्टर, एसपी और दूसरे अधिकारियों जैसा बनने की चाहत जन्म लेगी। कार्यालयों में काम करते अधिकारियों को देखकर बच्चे पढ़ाई के महत्व को समझंेगे और उनमें शाला छोड़ने की प्रवृत्ति नहीं आएगी। कलेक्टर ने बच्चों को हर तरह सहयोग देने का वायदा भी किया। बाल गृह में रहकर अपने भविष्य को गढ़ने में लगे बच्चे अधिकारियों से मिलकर नई ऊर्जा और उत्साह से भर गए।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button