आज चैंबर में बैठेंगे अयोध्‍या केस की सुनवाई करने वाली संविधान पीठ के सदस्य

आज अपने-अपने कोर्ट रूम में सुनवाई नहीं करेंगे पांचों जज

नई दिल्‍ली: अयोध्‍या केस में छह अगस्‍त से चल रही नियमित सुनवाई सभी पक्षों की दलीलें पूरी होने के बाद पूरी हो गई. इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रख लिया है. कहा जा रहा है कि 17 नवंबर से पहले फैसला आ सकता है. ऐसा इसलिए क्‍योंकि 17 नवंबर को चीफ जस्टिस रंजन गोगोई रिटायर होने वाले हैं.

वह इस केस की सुनवाई के लिए गठित संविधान पीठ के मुखिया हैं. इससे पहले सुप्रीम कोर्ट में अयोध्‍या केस की 40वें दिन की सुनवाई में रामलला विराजमान के सीएस वैद्यनाथन ने अपनी जिरह में कहा कि पैग़ंबर मोहम्मद ने कहा था कि किसी को मस्ज़िद उसी ज़मीन पर बनानी चाहिए जिसका वह मालिक है.

सुन्नी वक्फ बोर्ड जगह पर मालिकाना हक साबित करने में नाकाम रहा और सिर्फ नमाज़ पढ़ने को आधार बना कर ज़मीन दिए जाने की मांग कर रहा है. वहीं सुप्रीम कोर्ट के नोटिस के मुताबिक अयोध्‍या केस की सुनवाई करने वाली संविधान पीठ के सदस्य (पांचों जज) आज चैंबर में बैठेंगे.

पांचों जज आज अपने-अपने कोर्ट रूम में सुनवाई नहीं करेंगे. पांचों जज अयोध्या केस के फैसले के लिखे जाने को लेकर आपस में विमर्श करेंगे. इसके साथ ही अयोध्‍या मामले का फ़ैसला लिखने में व्यस्तता के चलते सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने अपना प्रस्तावित विदेश दौरा रद्द किया.

Back to top button