अनियमित पदोन्नति की जांच कराने उच्च शिक्षा मंत्री उमेश पटेल को सौंपा ज्ञापन

उच्च शिक्षा मंत्री उमेश पटेल ने कहा है कि इसकी जांच करेंगे

रायपुर: छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेश कमेटी असंगठित क्षेत्र समस्या निवारण प्रकोष्ठ रायपुर के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष दिलीप सिंह चौहान के साथ मे अन्य कार्यकर्ताओं ने उच्च शिक्षा विभाग में सन 2004 से 2016 हुए अनियमित पदोन्नति की जांच कराने उच्च शिक्षा मंत्री उमेश पटेल को ज्ञापन सौंपा।

इस दौरान छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेश कमेटी असंगठित क्षेत्र समस्या निवारण प्रकोष्ठ रायपुर के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष दिलीप सिंह चौहान के साथ मे चन्द्रकान्त वर्मा, अखिलेश जोशी, बबलू रजा, जितेंद्र सोनिदिया, शेख नसीर, वीरेंद्र शेन्द्रे, और भी अन्य कार्यकर्ता भी मौजूद रहे।

उच्च शिक्षा विभाग में वरिष्ठता निर्धारण और पदोन्नति की कार्यवाही नियमों की ताक में रखकर भ्रष्टाचार से परिपूर्ण कार्यवाही कर 1987 में तदर्थ से नियमित किए गए सहायक प्राध्यापक को नियम विरुद्ध वार्षिक वेतन वृद्धि एवं पदोन्नति दी गई।

सन 2006 में अपात्र सहायक अध्यापकों को नियम विरुद्ध प्राध्यापक पदोन्नत किया गया, सन 2014 में अयोग्य पर अध्यापकों को प्राचार्य पद पर पदोन्नति दिया गया और पात्र अध्यापकों को पदोन्नति से वंचित किया गया।

जिस पर उच्च शिक्षा मंत्री उमेश पटेल ने कहा है कि इसकी जांच करेंगे।

Back to top button