पुरूष हॉकी विश्व कप 2018 : चीनी टीम ने इंग्लैंड को 2-2 से ड्रॉ खेलने पर किया मजबूर

चीन की टीम ने अपने प्रदर्शन से हर किसी को प्रभावित किया.

पहली बार हॉकी वर्ल्‍डकप में हिस्सा ले रहा चीन, टालाके डु के 59वें मिनट में किए गए गोल की बदौलत हार टालने में सफल रहा. शुक्रवार को कलिंगा स्टेडियम में खेले गए वर्ल्‍डकप के पूल-बी मैच में चीनी टीम ने इंग्लैंड को 2-2 से ड्रॉ खेलने पर मजबूर कर दिया.

चीन की टीम इंग्लैंड से 1-2 से पीछे थी और यह तय लग रहा था कि वह अपने वर्ल्‍डकप अभियान की शुरुआत हार से करेगी, लेकिन टालाके डु ने 59वें मिनट में मिले मौके का पूरा फायदा उठाया.

उनके गोल ने चीन को इस ऐतिहासिक मौके पर निराश होने से बचा लिया. चीन की टीम ने अपने प्रदर्शन से हर किसी को प्रभावित किया.

मैच का पहला गोल हालांकि चीन ने ही किया था लेकिन इंग्लैंड ने दो गोल कर जीत की तरफ कदम बढ़ा दिए थे जिस पर टालाके डु ने पानी फेर दिया. टूर्नामेंट के अंतर्गत चार दिसंबर को इंग्‍लैंड को अपना अगला मैच ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ खेलना है जबकि चीन इसी दिन आयरलैंड की टीम से भिड़ेगा.

मौजूदा चैंपियन ऑस्‍ट्रेलिया ने आयरलैंड पर संघर्षपूर्ण जीत दर्ज की

चीन की टीम ने मैच में अच्छी शुरुआत की और शानदार खेल के दम पर 5वें मिनट में ही गोल करने में सफल रही. चीन के लिए यह गोल जियाओपिंग गुओ ने किया. जवाब में इंग्लैंड ने पहले क्वार्टर में ही बराबरी का गोल दाग दिया.

उसे 13वें मिनट में पेनाल्टी कॉर्नर मिला जिस पर मार्क ग्लेनहोर्न ने गोल कर स्कोर 1-1 की बराबरी पर ला दिया. दूसरे क्वार्टर में चीन को तीन और इंग्लैंड को दो पेनल्टी कॉर्नर मिले. 18वें मिनट में चीन को लगातार तीन पेनल्टी कॉर्नर मिले.

तीसरे प्रयास में गेंद नेट के अंदर चली गई थी, लेकिन रैफरल में इस गोल को नकार दिया गया और चीन को निराशा हाथ लगी. चीन की तरह ही इंग्लैंड इस क्वार्टर में मिले पेनल्टी कॉर्नर को गोल में तब्‍दील नहीं कर पाई. हालांकि इंग्‍लैंड ने चीन से बेहतर खेल दिखाया और विपक्षी टीम को दबाव में भी रखा.<>

 

Back to top button