क्राइमछत्तीसगढ़

मानसिक रूप से प्रताड़ित युवक ने अपनी जीवन की कहानी का किया अंत…

ट्रेनी IPS रत्ना सिंह अभी पुरानी बस्ती थाना प्रभारी हैं

ब्यूरो चीफ : विपुल मिश्रा

रायपुर : IPS रत्ना सिंह पर प्रताड़ना का आरोप लगाकर एक छात्र ने खुदकुशी कर ली है,वही परिजनों ने अब इस मामले में आईपीएस पर कई गंभीर आरोप लगा रहे है,जानकारी के मुताबिक घटना पुरानी बस्ती इलाके की है,ट्रेनी IPS रत्ना सिंह अभी पुरानी बस्ती थाना प्रभारी हैं

जानकारी के मुताबिक मृत छात्र का नाम धर्मेंद्र आदिले हैं,एक महिला ने धर्मेंद्र पर फोन कर परेशान करने और फेसबुक हैक कर फोटो इधर-उधर भेजने का गंभीर आरोप लगाया था,अपने पति के साथ शिकायत करने वाली महिला का आरोप है कि धर्मेंद्र उसे बराबर परेशान करता है,उसने उसकी फेसबुक आईडी भी हैक कर ली थी और सारे फोटो भी रख लिये थे,आरोप ये भी था कि धर्मेंद्र लगातार फोटो को महिला के परिजनों को भेज रहा था,इस मामले में फोन पर लगातार परेशान करने के बाद महिला ने जब फोन नंबर बंद कर दिया तो दूसरे परिजनों को फोन कर युवक परेशान करने लगा,महिला ने थाने में शिकायत के दौरान फोन नंबर भी धर्मेंद्र का दिय़ा था

युवक के खिलाफ कल धारा 151 के तहत प्रतिबंधात्मक कार्रवाई

जिसके बाद पुलिस को मिली इस शिकायत के बाद युवक के खिलाफ कल धारा 151 के तहत प्रतिबंधात्मक कार्रवाई की गयी थी,आज सुबह युवक ने अपने घर में फांसी लगा ली,जिसके बाद परिजनों का आरोप है कि थाने में उसे प्रताड़ित किया गया,यही वजह है कि वो डिप्रेशन में चला गया..

वही मामले में IPS रत्ना सिंह का कहना है कि “थाने में युवक पर किसी तरह की कोई प्रताड़ना नहीं हुई है, थाने में उसके व्यवहार में डिप्रेशन में आने जैसी कोई बात नहीं लगी, मैं मानती हूं कि उस परिवार का दुख काफी ज्यादा है, वो आरोप लगा रहे हैं तो क्या कहा जा सकता है, लेकिन थाने का सीसीटीवी चालू था, अगर प्रताड़ना होती तो वीडियो में आया होगा, इसके अलावे पोस्टमार्टम रिपोर्ट में प्रताड़ना जैसी कोई बात होगी तो रिपोर्ट आयेगी, मैं हैरान हूं कि उस युवक ने खुदकुशी की, लेकिन पुलिस ने सिर्फ और सिर्फ नियम के मुताबिक कार्रवाई की है। महिला की शिकायत के आधार पर 151 के तहत कार्रवाई की गयी थी। थाने में जब तक वो रहा नार्मल था, लेकिन अचानक घर जाकर उसके दिमाग में क्या ऐसी बात आयी ये समझ से परे हैं…

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button