दिल्लीराज्य

पुरानी दिल्ली स्टेशन पर भी ‘मौत’ के दो FOB

नई दिल्ली: पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन राजधानी का दूसरा सबसे व्यस्त स्टेशन है। लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि इस स्टेशन में 16 प्लैटफॉर्म को एक-दूसरे से कनेक्ट करने के लिए सिर्फ दो एफओबी हैं।

इनसे रोजाना 2.5 लाख लोग गुजरते हैं। लेकिन ये इतनी छोटी हैं कि कभी भगदड़ मची तो मुंबई हादसे से भी बड़ा और भयानक रूप सामने आएगा।

मुंबई हादसे के बाद शुक्रवार को एनबीटी टीम ने स्टेशन को विजिट किया। बताया जाता है कि फेस्टिव सीजन में इस स्टेशन में रोजाना करीब पांच लाख यात्री पहुंचते हैं।

स्टेशन के दोनों एफओबी जर्जर हो चुके हैं। एक एफओबी की हालत तो यह है कि उसे कश्मीरी गेट की ओर से थोड़ा चौड़ा कर दिया गया है।

जब इस पर पुरानी दिल्ली की ओर बढ़ते हैं तो कुछ आगे ही यह बॉटल नेक का रूप ले लेता है। इसके चलते यात्रियों की भीड़ एक संकरी एफओबी वाली गली में आ जाती है।

इसमें भगदड़ मचने पर बड़ा हादसा हो सकता है। ऐसी ही समस्या दूसरे एफओबी पर भी है।

यही नहीं, एफओबी से प्लेटफॉर्म को कनेक्ट करने वाली सीढ़ियां भी इतनी छोटी हैं कि वहां भगदड़ मची तो दिक्कत हो सकती है।

एक और बड़ी समस्या स्टेशन के चांदनी चौक की ओर वाले मुख्य गेट पर भी देखने को मिली। यहां मेंटिनेंस का काम चल रहा है। इसके नीचे यात्रियों की लंबी लाइन लगी मिली।

यहां हादसा हो गया तो जिम्मेदार कौन होगा? कई टिकट काउंटर पर विंडो बंद थीं, जो खुली थीं वहां लोगों की भारी भीड़ थी।

स्टेशन पर आठ ऑटोमेटिक टिकट वेंडिंग मशीन लगी हुई हैं। इनमें से तीन ही चलती मिलीं। स्टेशन पर केवल प्लेटफॉर्म नंबर-1 साफ दिखाई दिया, जहां स्टेशन डायरेक्टर का ऑफिस है।

दो नए एफओबी बनवाएंगे: डीआरएम

मुंबई हादसे के बाद शुक्रवार को नॉर्दर्न रेलवे की दिल्ली डिवीजन के डीआरएम आर एन सिंह ने पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन को विजिट किया।

उन्होंने माना कि स्टेशन में कई कमियां हैं। जब उनसे स्टेशन पर एफओबी के छोटे व संकरे साइज के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि अब दो और एफओबी बनाए जाएंगे। ये 20×20 फुट की चौड़ाई के होंगे। उन्होंने बाकी काम भी जल्द शुरू कराए जाने की बात कही।

Summary
Review Date
Reviewed Item
दिल्ली स्टेशन
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags

Related Articles

Leave a Reply