सौभाग्य योजना: सबसे ज्यादा इस राज्य को फायदा

लखनऊ: हर घर में बिजली पहुंचाने के लिए केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गई सौभाग्य योजना का सबसे ज्यादा फायदा यूपी को होगा।

इस योजना से यूपी के करीब 1.60 करोड़ घरों तक बिजली पहुंचेगी। ऑल इंडिया पावर इंजिनियर्स फेडरेशन के चेयरमैन शैलेन्द्र दुबे के मुताबिक इस योजना के तहत देश में 4.5 करोड़ घरों तक बिजली पहुंचाई जानी है।

इनमें करीब 40% घर अकेले यूपी से हैं। केंद्रीय विद्युत प्राधिकरण के आंकड़ों के मुताबिक यूपी के 71% घरों में अभी तक बिजली कनेक्शन नहीं पहुंचा है।

ऊर्जा नीति में किया जाए बदलाव

शैलेन्द्र दुबे ने कहा कि सरकार को ऊर्जा नीति में बदलाव करना चाहिए, ताकि सबको किफायती दरों पर बिजली मिले।

अभियंता संघ के महासचिव राजीव सिंह ने बताया कि देश में बिजली उत्पादन क्षमता 3.30 लाख मेगावाट है, जबकि बिजली की मांग 1.50 लाख मेगावाट है। इसके बाद भी करोड़ों घरों में बिजली नहीं है।

सार्वजनिक बिजली घरों को मजबूत करना जरूरी


ऑल इंडिया पावर इंजिनियर फेडरेशन ने सौभाग्य योजना का स्वागत किया है। साथ ही मांग की है कि योजना की सफलता के लिए राज्य सरकार निजी घरानों पर निर्भरता खत्म कर सार्वजनिक क्षेत्र को मजबूत करे।

अभियंता संघ के अध्यक्ष जीके मिश्र ने कहा कि इस क्रांतिकारी योजना का पूरा दारोमदार सार्वजनिक क्षेत्र पर है। क्योंकि योजना से सबसे ज्यादा फायदा ग्रामीण इलाकों को होगा।

ग्रामीण इलाकों में बिजली वितरण करने वाली कंपनियों को 4 से 5 रुपये प्रति यूनिट का घाटा होगा और निजी क्षेत्र की कंपनियां इसे नहीं करेंगी।

ऐसे में सरकार को सरकारी क्षेत्र की कंपनियों को मानव संसाधन और सामग्री की दृष्टि से मजबूत करना होगा।

यह है स्थिति


ग्रामीण इलाकों में घर 17.92 करोड़

बिजली कनेक्शन 13.87 करोड़

घरों में बिजली नहीं 04.05 करोड़

Back to top button