अन्यराज्य

ड्यूटी पर बेसबॉल कैप क्यों पहनेगी मुंबई पुलिस

मुंबई: मुंबई में पुलिसकर्मियों की सुविधा को देखते हुए उन्हें एक और टोपी देने का फैसला किया गया है। इस मामले में मुंबई के पुलिस आयुक्त दत्तात्रेय पडसलगीकर ने बुधवार को  बातचीत में पुरानी कैप बदलने की ख़बर को गलत बताया।

पडसलगीकर ने कहा कि पुरानी टोपी अभी भी रहेगी लेकिन बेसबॉल जैसी कैप इस्तेमाल करने की विकल्प भी रहेगा।

पडसलगीकर ने बताया,’अक्सर देखा गया है कि बंदोबस्त के दौरान या फिर बाइक पर जाते समय पुलिसकर्मियों को अपनी टोपी को काफी संभालना पड़ता है क्योंकि उन्हें डर रहता है कि कहीं यह गिर या उड़ न जाए।

इसी वजह से हमने कुछ महीने पहले पुलिस शोध और विकास ब्यूरो की मदद से बेसबॉल कैप जैसी करीब 50 टोपियां बनवाकर अपने पुलिसकर्मियों को परीक्षण के तौर पर पहनने को दीं।

दरअसल, हम यह देखना चाहते थे कि इसे पहनकर वे खुद कितना सहज महसूस करते हैं। इसके बाद सकारात्मक प्रतिक्रिया मिलने पर हमने मुंबई के सभी पुलिस स्टेशनों और अन्य यूनिट्स में यही कैप देने का फैसला लिया है।’

कौन पहनेंगे नई कैप?

पडसलगीकर के मुताबिक, ‘ये नई कैप सिर्फ सिपाही से लेकर सहायक उप निरीक्षक (एएसआई) रैंक के पुलिसकर्मियों को दी जा रही हैं।

इससे ऊपर के रैंक के पुलिसकर्मी पहले वाली कैप ही पहनते रहेंगे।’ बता दें कि मुंबई पुलिस में 48 हजार पुलिसकर्मी हैं, जिनमें 75 प्रतिशत कॉन्स्टेबल और एएसआई हैं।

एमआरए पुलिस स्टेशन के सीनियर इंस्पेक्टर सुखलाल वर्पे ने बताया कि हर पुलिस स्टेशन में करीब 150 से 200 तक सिपाही और एएसआई होते हैं।

क्राइम ब्रांच में नहीं दी जाएंगी कैप

अभी क्राइम ब्रांच में नई कैप नहीं दी गई हैं। एक अधिकारी के अनुसार, चूंकि क्राइम ब्रांच का काम बंदोबस्त का नहीं, डिटेक्शन का होता है, इसलिए वहां बेसबॉल कैप जैसी कैप की जरूरत नहीं है। अधिकारी का कहना है, ‘हम वैसे भी सादी वर्दी में ही रहते हैं, ताकि हमारी शिनाख्त न हो सके।’

परेड में पुरानी कैप

पुलिस सूत्रों के अनुसार, पुलिस परेड के दौरान सभी पुलिसकर्मियों को नई नहीं, पुरानी कैप ही पहननी होंगी।

 

Summary
Review Date
Reviewed Item
मुंबई पुलिस
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *