मेक्सिको के शोधकर्ताओं ने बताया नाक वाला मास्क, जानें इसके बारे में

शोधकर्ताओं ने सामान्य मास्क से बेहतर और सहूलियत वाला मास्क बनाया

नई दिल्ली:मेक्सिको के शोधकर्ताओं ने सामान्य मास्क से बेहतर और सहूलियत वाला मास्क बनाया है. इससे आपकी नाक पूरी तरह से कवर रहती है. इससे आप कोरोना वायरस संक्रमण से बचे रहेंगे. आपका मुंह खुला रहेगा. ताकि आराम से इसे लगाकर खा-पी सकें.

अगर आपको फिर भी डर लगता है तो आप इसके ऊपर एक सामान्य मास्क लगा सकते हैं. एक वीडियो में दिखाया गया है कि एक महिला और पुरुष ये मास्क लगाकर खा-पी रहे हैं. ये दोनों पहले सामान्य मास्क उतारते हैं. जिसके नीचे सिर्फ नाक वाला मास्क लगा हुआ है.

इसके बाद ये लोग इस मास्क को बिना उतारे खाना-पीना शुरु कर देते हैं. उनके टेबल पर प्लास्टिक के कुछ लिफाफे दिखते हैं, जिसमें Nose Only Mask दिखाई दे रहे हैं. इस मास्क को नाम दिया गया है सिर्फ नाक वाला मास्क या खाने वाला मास्क.

कोरोना वायरस एक रेस्पिरेटरी बीमारी है. यानी सांस संबंधी बीमारी है. इसका वायरस हवा में तैर रही तरल बूंदों के जरिए आपके नाक से होते हुए फेफड़ों तक पहुंच जाता है. अगर कोई संक्रमित व्यक्ति खुली हवा में खास दे, छींक दे या खुली नाक से सांस ले तो वो कई लोगों को संक्रमित कर सकता है. इसलिए सभी लोगों के लिए मास्क लगाना जरूरी है. लेकिन मास्क की वजह से कई लोगों को दिक्कत भी होती है.

जॉन्स हॉपकिंस यूनिवर्सिटी के मुताबिक वो कोशिकाएं (Cells) जो इंसानों को सूंघने की क्षमता प्रदान करती हैं, वो भी कोरोना वायरस संक्रमण का माध्यम बन सकती हैं. इसलिए सबसे ज्यादा जरूरी है नाक का ढके रहना. ताकि अगर जाने-अनजाने में किसी कोरोना संक्रमित से मिले तो आप मास्क न लगाने की लापरवाही से बच सकें. बीमार न हो.

इस मास्क को लेकर काफी चर्चा हो रही है. सोशल मीडिया पर कुछ लोग इसे जोकर की लाल रंग की नाक कह रहे हैं. कुछ लोगों का कहना है कि ये कोई नया इनोवेशन नहीं है. इसे जोकर बरसों से पहनते आ रहे हैं. वहीं, किसी ने कहा कि ये जरूर थोड़ा सा विचित्र दिख रहा है लेकिन सालभर पहले सामान्य मास्क भी सबके चेहरे पर अजीब दिखता था. इसकी भी आदत पड़ जाएगी.

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने निर्देश जारी किया है कि कोरोना वायरस से बचने के लिए नाक, मुंह और ठुड्डी तक ढकने वाला मास्क लगाएं. वहीं, अमेरिका के CDC ने कहा है कि कई लेयर वाला मास्क आपको कोरोनावायरस से बचा सकता है. साथ ही संक्रमण की दर को कम कर सकता है.

CDC के मुताबिक अमेरिका में करीब 3 करोड़ लोग कोरोना संक्रमित हो चुके हैं. इसके अलावा 5.44 लाख लोगों की जान जा चुकी है. इतनी गंभीर स्थिति के बावजूद दुनिया भर में लोग मास्क लगाने का विरोध भी करते आए हैं. कुछ लोगों ने तो मास्क लगाया ही नहीं. मास्क लगाने के मुद्दे का राजनीतिकरण किया गया. इसमें सबसे आगे थे अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप.

अमेरिका के नए राष्ट्रपति जो बाइडेन ने आते ही मास्क लगाना अनिवार्य कर दिया. बाइडेन ने कहा कि लोग सार्वजनिक स्थानों पर मास्क जरूर लगाएं. भारत समेत कई देशों में तो मास्क न लगाने पर जुर्माने तक के नियम बनाए गए हैं. राजधानी दिल्ली में तो न जाने कितने लोगों ने मास्क न लगाने पर जुर्माना दिया है.

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button