भारत-पाक के बीच सैन्य संघर्ष अनावश्यक गलतफहमी : हवाई जज

नई दिल्ली : हवाई सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश मिशेल डी विल्सन ने कहा है कि भारत और पाकिस्तान के बीच सैन्य संघर्ष एक अनावश्यक गलतफहमी है। न्यायाधीश ने जोर देकर कहा कि दोनों देशों द्वारा बहुत कुछ किया जाना है।

हवाई सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश के मुताबिक, दोनों देश जलवायु परिवर्तन के खतरे जैसी कई अन्य गंभीर समस्याओं का सामना कर रहे हैं। फिर भी खास राजनीतिक लक्ष्य हासिल करने के लिए आतंकवाद और हिंसा का इस्तेमाल कर नागरिकों को निशाना नहीं बनाना चाहिए। इस तरह की गतिविधि होने पर जवाबदेही सुनिश्चित करना आवश्यक है। उनका विचार है कि दोनों देशों के बीच सांस्कृतिक संपर्क के माध्यम से सामंजस्य हासिल किया जा सकता है।

जस्टिस विल्सन ने कहा, ‘मैं यह सोचने पर विवश हूं कि दोनों समुदायों की रक्षा के लिए सैन्य संघर्ष की जरूरत का विचार अनावश्यक भ्रम है। आतंकवाद के संबध में मैं इस विचार से सहमत नहीं हूं कि राजनीतिक लक्ष्य हासिल करने के लिए कोई हिंसा के माध्यम से निर्दोष नागरिकों को निशाना बनाए। ऐसी गतिविधि होने पर जवाबदेही सुनिश्चित करना अनिवार्य है। देशों को अपने नागरिकों की रक्षा करनी चाहिए।’

1
Back to top button