दुग्ध महासंघ अध्यक्ष परमार ने मुख्यमंत्री को लिखा पत्र, प्रकरण की बारीकी से जांच की मांग

रायपुर. रायपुर दुग्ध महासंघ के अध्यक्ष रसिक परमार ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को पत्र लिखा है. भाजपा (BJP) के मीडिया प्रभारी रहे परमार ने अपने ऊपर लगे भ्रष्टाचार एवं अनियमितता के आरोपों के संबंध में यह पत्र लिखा हैं. इसमें उन पर लगातार लग रहे भ्रष्टाचार के आरोप से आहात होने का दर्द झलकता नजर आ रहा हैं. इसमें उन्होंने पुरे प्रकरण की बारीकी से जांच की मांग भी की है. आज यह पत्र मीडिया को जारी किया गया है.

मुख्यमंत्री को संबोधित अपने पत्र में उन्होंने कहा कि कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने आपको एक ज्ञापन सौंपकर मेरे ऊपर भ्रष्टाचार एवं अनियमितता के मिथ्या एवं बेबुनियाद आरोप लगाये हैं। मैं इन आरोपों से पूर्णतः असहमत होते हुए भी किसी भी जांच के लिए तैयार हूं लेकिन आपको जिस ढंग से ज्ञापन सौंपकर मीडिया में प्रचारित-प्रसारित किया गया और मुझे अपमानित करने का प्रयास किया गया, उससे मैं बेहद आहत हूं।

दुग्ध महासंघ अध्यक्ष परमार ने मुख्यमंत्री को लिखा पत्र

मैं आपको बताना चाहता हूं कि यह वही आरोप हैं जो मुझ पर कई बार षड्यंत्रपूर्वक लगाया जा चुके हैं और हर बार जांच में गलत पाये गये हैं। इसके बाद प्रकरण नस्तीबद्ध किये गये हैं। इन्हीं बेबुनियाद आरोपों को अब आपके संगठन (कांग्रेस) के प्रमुख प्रवक्ता के माध्यम से आपको ज्ञापन के रूप में सौंपा गया है। अतः मेरा विनम्र आग्रह है कि प्रकरण की बारीकी से उच्चस्तरीय निष्पक्ष जांच कराने का कष्ट करें।

मैंने हमेशा व्यक्तिगत स्वार्थों से ऊपर उठकर, बिना राजनीतिक भेदभाव के दुग्ध महासंघ के हित में कार्य किया है। मैंने कभी ऐसा काम नहीं किया है, जिससे दुग्ध महासंघ को नुकसान हो।

उन्होंने अपने ऊपर लगे आरोपों के बारे में सिल-सिलेवार तथ्यों से अवगत कराते हुए अपने कार्यकाल की उपलब्धियों की भी जानकारी दी है. जिसमे सहकार भारती के भी कुछ लोगों का जिक्र है. वहीँ दुग्ध महासंघ के कर्मचारियों के बारे में भी जानकारी दी गई है.

Back to top button