सरकारी नौकरी लगाने के नाम पर लाखों की ठगी, तीन आरोपी गिरफ्तार

रोशन सोनी

सरगुजा। सरगुजा जिले में सभी को चौका देने वाला सनसनीखेज मामला सामने आया है। आपको बता दे कि सरगुजा पुलिस ने सरकारी नौकरी के नाम पर ठगी करने वाले गिरोह के तीन सदस्यों को दिल्ली से गिरफ्तार किया है,ठगी के सभी आरोपी उत्तर प्रदेश के निवासी है,इधर इस बड़े मामले मे मिली सफलता के बाद पुलिस टीम को सरगुजा रेंज के आईजी ने ईनाम के रूप में 25 हजार रूपए तो सरगुजा एसपी ने दस हजार रुपए इनाम देने की घोषणा की है।

सरगुजा एस.पी.सदानंद कुमार ने आज पुलिस कंट्रोल रूम मे धोखाधड़ी के एक बडे मामले का खुलासा किया दरअसल अम्बिकापुर के खैरबार निवासी रामकेवल लकड़ा को कुछ समय पहले अज्ञात सक्रिय गिरोह के सदस्यों ने सरकारी नौकरी दिलवाने के नाम पर पहले बैंक खाते में रूपए जमा कराए फिर फर्जी नियुक्ति पत्र जारी कर दिया,लेकिन आरोपियों की करस्तानी पर रामकेवल को शक हुआ कि वह ठगी का शिकार हो चुका है।

जिसके बाद उसने मामले की शिकायत सरगुजा पुलिस में दर्ज कराई। इधर शिकायत पर पुलिस ने गंभीरता से लेते हुए एसपी ने मामले की छानबीन के लिए एक टीम बनाई, तभी पुलिस को मुखबिर के द्वारा सूचना मिली की इसका मास्टरमाइंड दिल्ली में बैठा हुआ है।

लिहाजा पुलिस टीम दिल्ली रवाना हो गई और वहां से मुख्य आरोपी गौतम को गिरफ्तार करने के बाद,गौतम की निशानदेही पर सरगुजा पुलिस ने मेरठ उत्तर प्रदेश निवासी अजय सोनी व नसीम खान को भी गिरफ्तार कर लिया।

पुलिस ने आरोपियों के कब्जे से 51 हजार 500 रुपए नगद,चार एटीएम कार्ड,बहुत से राज्यों के आवेदकों की जानकारी वाली दो पेन ड्राइव के अलावा 5 मोबाइल फोन और जरूरी कागजात के साथ ही एक फाइनेंस कंपनी के 90 हजार की जमा पर्ची जप्त किया है।

पुलिस अधीक्षक के मुताबिक पकडे गए आरोपी ने पहली ठगी छत्तीसगढ़ मे की है,उसके बाद अन्य राज्यों मे भी सरकारी नौकरी के नाम ठगी की है,इधर ठगी के तरीके की जानकारी देते हुए एसपी ने ये बताया कि आरोपी सरकारी विभागों की वेबसाइट से लेटर हेड और डाटा चोरी करके लोगों की फर्जी नियुक्ति करके लोगों से लाखो की ठगी करते थे।

सरकारी नौकरी के नाम पर ठगी के आरोपियों की गिरफ्तारी होने के बाद ठगी के आरोपियों ने खुद कई बड़े मामले के खुलासे किए हैं आरोपियों ने बताया कि उनके द्वारा सरकारी नौकरी दिलाने के नाम पर छत्तीसगढ़ सहित उत्तर प्रदेश,हिमाचल बिहार,राजस्थान झारखंड में भी आरोपियों द्वारा लाखो की ठगी की जा चुकी है।

बहरहाल आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद सरगुजा पुलिस अभी भी मामले की जांच को जारी रखे हुए है और उम्मीद में ये जताई जा रही है कि मामले मे जल्द ही और भी गिरफ्तारी संभव है,बहरहाल आदिवासी इलाकों मे चालबाजों द्वारा तरह तरह की ठगी की जाती है…लेकिन ठगे जाने वाले होते हैं तो सिर्फ भोले भाले आदिवासी….!!! तो जरूरत है खुद की सतर्कता और प्रशासन की संवेदनशीलता की।

Back to top button