मिलावटी मसाला बनाने वालों ने खबर बनाने पर दी पत्रकार को फ़साने और देख लेने की धमकी

न्यायधानी में पत्रकारिता करना हुआ दूभर

– मनमोहन पात्रे

बिलासपुर: छत्तीसगढ़ में पत्रकारिता करना लगातार मुश्किल होता जा रहा है. अवैध और ग़ैरकानूनी करने वालों के हौसले दिन ब दिन बढ़ते जा रहे है. नया मामला बिलासपुर से लगे कोटा का है. जहाँ खबर बनाने गए पत्रकारों को झूठे आरोपों में फंसाने और देख लेने की धमकी दी गई.

दरअसल पूरा मामला कोटा के ग्राम पीपरतराई का है. जहाँ अर्पण मसाला उधोग में मिलावटी मसालों का निर्माण किया जा रहा था. मौके पर पहुंचे पत्रकार सागर सोनी (धमाका छत्तीसी) को बाइट देने के लिए बिलासपुर में मिलने को कहा गया.

जब बुधवार को मामले में बाइट लेने के लिए सागर सोनी द्वारा मसाला उधोग के डायरेक्टर को फोन किया गया तो फोन उठाते ही उसने धमकी देना शुरू कर दिया. उगाही के केस में फंसाने और देख लेने की धमकी दी गई. जब मामले की शिकायत सागर ने कोटा पुलिस में करने की बात की तो थोड़ी देर बाद सरोज जोशी नामक महिला का कॉल आया.

कॉल करते ही सरोज ने चोरी और घरवालों को परेशान करने के मामले में फंसाने की धमकी दी. जिसके बाद सागर सोनी ने मामले की शिकायत कोटा थाना में की है. धमाका छत्तीसी (साप्ताहिक अखबार) में काम करने वाला सागर सोनी खबर बनाने जब पिपरतराई में स्थित अपर्णा मसाला उधोग में पहुँचा तो संतोष जोशी नामक आदमी ने उसे कहा कि वह अभी बाहर आया है और कल उसके आने पर खबर बनाया जाएं पर दूसरे दिन सागर जब खबर बनाने और उसका बाइट लेने संतोष को फोन लगाया तो संतोष ने उसे झूठे केस में फ़साने और देख लेने की धमकी देने लगा.

Back to top button