मन की बात : मोदी ने कहा-मुस्लिम महिलाओं को इंसाफ मिलेगा

नई दिल्ली ।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने रेडियो कार्यक्रम मन की बात के जरिए देशवासियों को संबोधित किया। इस दौरान पीएम मोदी ने सबसे पहले देशवासियों को रक्षा बंधन और कृष्ण जन्माष्टमी के पर्व की शुभकामनाएं दी। साथ ही, केरल बाढ़, एशियाड गेम्स से लेकर फिट इंडिया जैसे मुद्दों पर बात की।

इससे पहले पीएम मोदी ने 29 जुलाई को मन की बात के जरिये देशवासियों को संबोधित किया था। इस दौरान पीएम मोदी ने इस बार सभी से इको-फ्रेंडली गणेश उत्सव मनाने की अपील की। उन्होंने कहा, हर शहर में इको-फ्रेंडली गणेश उत्सव की अलग स्पर्धाएं हों, उनको इनाम दिए जाएं। साथ ही उन्होंने लोकमान्य तिलक, चंद्र शेखर आजाद जैसे महान स्वतंत्रता सेनानियों को भी याद किया। इस दौरान प्रधानमंत्री ने प्रकृति प्रेमी बने और इसके रक्षक बनने की भी सलाह दी थी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रक्षाबंधन और जन्माष्टमी की बधाई देते हुए मन की बात कार्यक्रम की शुरुआत की। उन्होंने कहा, अभी कुछ ही दिन बाद जन्माष्टमी का पर्व भी आने वाला है। पूरा वातावरण हाथी, घोड़ा, पालकी, जय कन्हैयालाल की, गोविन्दा-गोविन्दा की जयघोष से गूंजने वाला है। सभी देशवासियों को रक्षाबन्धन एवं जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनाएं।

पीएम ने भाषा के महत्व पर बात करते हुए कहा,हर भाषा का अपना माहात्म्य होता है। भारत इस बात का गर्व करता है कि तमिल भाषा विश्व की सबसे पुरानी भाषा है और हम सभी भारतीय इस बात पर भी गर्व करते हैं कि वेदकाल से वर्तमान तक संस्कृत भाषा ने भी ज्ञान के प्रचार-प्रसार में बड़ी भूमिका निभाई है।

5 सितंबर को शिक्षक दिवस होता है। प्रधानमंत्री मोदी ने देशवासियों को शिक्षक दिवस की बधाई देते हुए कहा,जैसे जीवन में गुरु का महत्व समझाने के लिए कहा गया है- कोई गुरु अपने शिष्य को एक भी अक्षर का ज्ञान देता है तो पूरी पृथ्वी में ऐसी कोई वस्तु या धन नहीं, जिससे शिष्य अपने गुरु का वह ऋण उतार सके। मैं देश के शिक्षकों को आने वाले शिक्षक दिवस की शुभकामनाएं देता हूं।

मुस्लिम महिलाओं को इंसाफ

महिला सुरक्षा की बात करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि दुष्कर्म के दोषियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई के लिए संसद में कानून लाया गया। वहीं, मंदसौर दुष्कर्म मामले का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि मंदसौर की अदालत ने बहुत ही कम वक्त में दोषियों को फांसी की सजा सुनाई। इस बीच उन्होंने तीन तलाक से संबंधित बिल का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा, यह बिल लोकसभा में पास हो गया है, अभी राज्यसभा से पास होना है। पीएम ने कहा,मैं मुस्लिम महिलाओं को विश्वास दिलाता हूं कि पूरा देश उन्हें न्याय दिलाने के लिए खड़ा है।

केरल बाढ़ का जिक्र

पीएम मोदी ने केरल की भयंकर बाढ़ का जिक्र करते हुए कहा कि केरल में भीषण बाढ़ ने जन-जीवन को बुरी तरह से प्रभावित किया है। आज इस कठिन परिस्थितियों में पूरा देश केरल के साथ खड़ा है और मुझे पूरा विश्वास है कि राज्य के लोगों के जज्बे और साहस के बल पर केरल दोबारा उठ खड़ा होगा। पीएम ने कहा, कठिन परिश्रम करने वाले यह हमारे किसानों के लिए मानसून नई उम्मीदें लेकर आता है।

भीषण गर्मी से झुलसते पेड़-पौधे, सूखे जलाशयों को राहत देता है लेकिन कभी-कभी यह अतिवृष्टि और विनाशकारी बाढ़ भी लाता है। पीएम मोदी ने कहा कि आपदाएं अपने पीछे जिस प्रकार की बर्बादी छोड़ जाती हैं, वह दुर्भाग्यपूर्ण हैं लेकिन आपदाओं के समय मानवता के भी दर्शन हमें देखने को मिलते हैं। कच्छ से कामरूप और कश्मीर से कन्याकुमारी तक हर कोई अपने-अपने स्तर पर कुछ-न-कुछ कर रहा है।

अटल जी को याद किया
पीएम मोदी ने इस दौरान पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को भी याद किया। उन्होंने कहा, अटल जी के लिए जिस प्रकार का स्नेह, श्रद्धा और शोक की भावना पूरे देश में उमड़ पड़ी है, वो उनके विशाल व्यक्तित्व को दर्शाती है। उन्होंने कहा कि मैं आज अटल जी के विशाल व्यक्तित्व का एक और पहलू, उसे सिर्फ स्पर्श करना चाहता हूं।

पीएम ने कहा, वर्ष 2001 में अटल जी ने बजट पेश करने का समय शाम 5 बजे से बदलकर सुबह 11 बजे कर दिया। अटल जी के समृद्ध और विकसित भारत के सपने को पूरा करने का संकल्प दोहराते हुए मैं हम सबकी ओर से अटल जी को श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं।

मानसून सत्र का जिक्र

पीएम ने अपने संबोधन में मानसून सत्र का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि अभी कुछ दिन पहले ही संसद का मानसून सत्र खत्म हुआ है। आपको यह जानकार प्रसन्नता होगी कि लोकसभा में 118 फीसद और राज्यसभा में 74 फीसद काम हुआ। लोकसभा में 21 विधेयक जबकि राज्यसभा में 14 विधेयकों को पारित किया गया।

एशियन गेम्स में भारत

पीएम मोदी ने जकार्ता में चल रहे एशियन गेम्स में भारत का नाम रोशन करने वाले खिलाड़ियों को भी मनोबल बढ़ाते हुए कहा कि मैं देश के लिए मेडल जीतने वाले सभी खिलाड़ियों को बधाई देता हूं। उन खिलाड़ियों को भी मेरी बहुत-बहुत शुभकामना, जिनकी स्पर्धाएं अभी बाकी हैं। पीएम ने कहा कि देश के लिए मेडल जीतने वालों में बढ़ी संख्या में हमारी बेटियां भी शामिल हैं और ये बहुत ही सकारात्मक संकेत है।

फिटनेस पर ध्यान दें

पीएम मोदी ने खेल और फिटनेस पर जोर देते हुए देशवासियों से अपील की वे जरूर खेलें और अपनी फिटनेस का भी पूरा ध्यान रखें। पीएम ने कहा कि स्वस्थ भारत ही संपन्न और समृद्ध भारत का निर्माण करेगा। साथ ही पीएम ने देशवासियों को राष्ट्रीय खेल दिवस की भी शुभकामनाएं दी।

Back to top button