राजधानी में राष्ट्रीय कृषि समृद्धि मेले की तैयारी शुरू, मंत्री बृजमोहन ने ली बैठक

रायपुर: राजधानी रायपुर में अगले माह छत्तीसगढ़ के किसानों का महाकुंभ लगेगा। राज्य शासन द्वारा 24 जनवरी से 28 जनवरी 2018 तक राजधानी रायपुर के नजदीक जोरा में 5 दिवसीय राष्ट्रीय कृषि समृद्धि मेला का आयोजन किया जाएगा।

कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल की अध्यक्षता में आज यहां मेले की तैयारियों के संबंध में बैठक आयोजित की गई। श्री अग्रवाल ने अधिकारियों को आयोजन के संबंध में जरूरी दिशा-निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि रायपुर में यह तीसरा राष्ट्रीय कृषि मेला होगा। विगत दो वर्षों में सबके सहयोग से हम सबने सफलतापूर्वक इस मेले का आयोजन किया, जिससे राष्ट्रीय स्तर पर छत्तीसगढ़ की पहचान बनी।

श्री अग्रवाल ने कहा कि विगत दो आयोजनों की तरह तीसरे वर्ष के इस महत्वपूर्ण राष्ट्रीय आयोजन को भी किसानों के लिए  यादगार बनाने के सभी जरूरी उपाय किए जाने चाहिए।

उन्होंने कहा- किसानों की आमदनी दोगुनी करने, खेती में पानी की हर बूंद का इस्तेमाल सुनिश्चित करने, केन्द्र और राज्य सरकारों की कृषि संबंधी योजनाओं की जानकारी देने के उद्देश्य से यह आयोजन किया जा रहा है। प्रदर्शनी में उन्नत कृषि उपकरण भी रखे जाएंगे।

श्री अग्रवाल ने कहा- राष्ट्रीय कृषि मेले में होने वाली प्रदर्शनी में छत्तीसगढ़ सहित पूरे देश में खेती किसानी, उद्यानिकी, पशुपालन, मछली पालन, वानिकी आदि कृषि आधारित व्यवसायों के विकास के लिए किए जा रहे वैज्ञानिक अनुसंधानों के बारे में किसानों को और आम नागरिकों को भी बहुत कुछ देखने, सुनने और समझने का अवसर मिलेगा।

उन्होंने यह भी कहा कि इस बार के कृषि मेले में भी किसान पाठशालाएं विशेष रूप से लगाई जाएंगी, जिनमें विषय विशेषज्ञों द्वारा किसानों को खेती के नये तौर-तरीकों की जानकारी दी जाएगी।

कृषि मंत्री की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. एस.के. पाटिल, कृषि विभाग के सचिव अनूप श्रीवास्तव, कलेक्टर रायपुर ओ.पी. चौधरी, संचालक उद्यानिकी विभाग के संचालक नरेन्द्र पाण्डेय सहित अन्य संबंधित वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

advt
Back to top button