मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने घोषित किए छत्तीसगढ़ मदरसा बोर्ड के नतीजे

रायपुर, 07 सितम्बर 2021: स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने आज अपने निवास कार्यालय में छत्तीसगढ़ मदरसा बोर्ड द्वारा आयोजित हाई स्कूल, हायर सेकेण्डरी, पत्राचार पाठ्यक्रम परीक्षा, उर्दू अदीब और उर्दू माहिर प्रमाण पत्र परीक्षा 2021 के नतीजे घोषित किए। उन्होंने परीक्षा में उत्तीर्ण परिक्षार्थियों को बधाई और शुभकामनाएं दी। इस अवसर पर छत्तीसगढ़ मदरसा बोर्ड के सचिव डॉ. आई.ए. अंसारी सहित मदरसा बोर्ड के अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे।

मंत्री डॉ. टेकाम ने इस अवसर पर कहा कि प्रदेश में निवासरत अल्पसंख्यक समुदाय के ऐसे विद्यार्थी जो शिक्षा की मुख्य धारा से किसी कारणवश दूर हो चुके थे, मदरसा बोर्ड की पत्राचार पाठ्यक्रम परीक्षा से जुड़ रहे हैं और उच्च शिक्षा की ओर अग्रसर हो रहे हैं। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए छत्तीसगढ़ मदरसा बोर्ड लगातार प्रयासरत है। उन्होंने कहा कि इन परीक्षाओं के माध्यम से अल्पसंख्यक समुदाय के विद्यार्थियों का रूझान शिक्षा के प्रति बढ़ रहा है।

हाई स्कूल पत्राचार पाठ्यक्रम परीक्षा में 96.39 प्रतिशत, हायर सेकेण्डरी पत्राचार पाठ्यक्रम परीक्षा कला संकाय में 96.87, हायर सेकेण्डरी वाणिज्य संकाय में 94.74 प्रतिशत, हायर सेकेण्डरी विज्ञान संकाय में शत प्रतिशत, उर्दू अदीब और उर्दू माहिर प्रमाण पत्र परीक्षा में शत-प्रतिशत परीक्षार्थी उत्तीर्ण हुए है।

हाई स्कूल पत्राचार पाठ्यक्रम में बालक 97.06 और बालिका 94.87 प्रतिशत उत्तीर्ण हुए। हायर सेकेण्डरी पत्राचार पाठ्यक्रम परीक्षा कला संकाय में बालक शतप्रतिशत और बालिकाएं 93.87 प्रतिशत, विज्ञान संकाय में बालक और बालिका शतप्रतिशत, वाणिज्य संकाय में बालक 88.89 तथा बालिका शतप्रतिशत उत्तीर्ण हुए। उर्दू अदीब प्रमाण-पत्र परीक्षा में बालक-बालिका शतप्रतिशत उत्तीर्ण हुए। इसी प्रकार उर्दू माहिर प्रमाण पत्र परीक्षा में बालक-बालिका शतप्रतिशत उत्तीर्ण हुए है।

कोविड-19 कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव को ध्यान में रखते हुए इस वर्ष परीक्षार्थियों को अपने ही घरों से परीक्षा में सम्मिलित होना का अवसर दिया गया था। परीक्षा परिणाम परीक्षार्थी छत्तीसगढ़ मदरसा बोर्ड की वेबसाइट http://result.cgmadarsaboard.in/result पर देख सकते हैं।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button