आसियान और भारत के बीच हुई मंत्रिस्तरीय बैठक, कई मुद्दों पर हुई चर्चा

कार्यान्वयन में प्रगति के मसले पर भी समीक्षा की गई

नई दिल्‍ली: विदेश मंत्री एस जयशंकर और थाईलैंड के विदेश मंत्री डॉन प्रमुदविनई की अध्यक्षता में आसियान और भारत के बीच समुद्री सहयोग, संपर्क, शिक्षा और क्षमता निर्माण के साथ साथ लोगों से लोगों के बीच संपर्क बढ़ाने जैसे कई मुद्दों पर बैठक हुई।

विदेश मंत्रालय ने बताया कि बैठक में आसियान भारत एक्‍शन प्‍लान (2016-2020) के कार्यान्वयन में प्रगति के मसले पर भी समीक्षा की गई। बैठक में भारत और 10 सदस्यी आसियान ने अपने सम्पूर्ण संबंधों को और मजबूत बनाने के लिए एक नई पंचवर्षीय कार्य योजना को स्‍वीकार किया।

डिजिटल माध्यम से हुई इस बैठक में दोनों पक्षों ने महत्वपूर्ण क्षेत्रीय और अंतरराष्ट्रीय घटनाक्रमों के बारे में चर्चा की और कोरोना महामारी से निपटने में सहयोग को मजबूत करने पर विचार साझा किए। बैठक में आसियान समूह के सभी सदस्य देशों के विदेश मंत्रियों ने भाग लिया।

बता दें कि दक्षिण पूर्व एशियाई देशों के संघ (आसियान) 10 देशों का समूह है। इसमें भारत सहित अमेरिका, चीन, जापान, आस्ट्रेलिया जैसे देश पार्टनर हैं। इस समूह को इस क्षेत्र में प्रभावशाली संगठन माना जाता है।

यह बैठक ऐसे समय में हुई है जब चीन दक्षिण चीन साग्रर में सैन्य आक्रामकता जारी रखे है। यही नहीं चीन का पूर्वी लद्दाख में भारत के साथ भी गतिरोध चल रहा है। आसियान के कई देशों का दक्षिण चीन सागर में चीन के साथ विवाद है।

विदेश मंत्रालय ने बताया कि बैठक में आसियान-भारत सामरिक संबंधों के विविध आयामों पर चर्चा हुई जिसमें नौवहन सहयोग, कनेक्टिविटी, शिक्षा और क्षमता निर्माण और लोगों से लोगों के बीच संपर्क बहाली शामिल है। बैठक में आसियान-भारत कार्य योजना (2016-20) को लागू किए जाने की दिशा में हुई प्रगति की समीक्षा की गई। अगले पांच साल के लिए नई कार्य योजना को मंजूरी दी गई।

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button