यूपीए काल में बेहतर जीडीपी ग्रोथ रिपोर्ट को मंत्रालय ने अपनी वेबसाइट से हटाया

इस दौरान मनमोहन सिंह देश के प्रधानमंत्री थे।

नई दिल्ली। यूपीए के काल में बेहतर जीडीपी ग्रोथ दिखाने वाली रिपोर्ट को सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय ने अपनी वेबसाइट से हटा दिया। क्यों कि इस रिपोर्ट में आंकड़ों का काफी अच्छा बताया था।

इस रिपोर्ट में बताया गया था कि 2010-11 के दौरान भारत की अर्थव्यवस्था 10.8 फीसदी की दर से बढ़ी है. अगर इसके लिए इसी आधार को मानक मान लिया जाए. बता दें कि इस दौरान मनमोहन सिंह देश के प्रधानमंत्री थे।

मोदी सरकार ने जीडीपी का आकलन करने के लिए आधार वर्ष 2010-11 कर दिया था. जबकि यूपीए सरकार के काल में यह 2004-05 था. यूपीए के काल में बेहतर जीडीपी ग्रोथ दिखाने वाली यह रिपोर्ट मिनिस्ट्री की वेबसाइट पर 25 जुलाई को प्रकाशित की गई थी.

आर्थिक तेजी के सबसे अच्छे दिन यूपीए काल

इस रिपोर्ट के प्रकाशित होने के बाद कांग्रेस और भाजपा के बीच जुबानी जंग शुरू हो गई. पिछले हफ्ते इस रिपोर्ट को लेकर पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम ने कहा, ‘GDP के बैक सीरीज कैल्कुलेशन ने सच्चाई बयां कर दी है.इससे साबित हो गया है कि आर्थिक तेजी के सबसे अच्छे दिन यूपीए काल 2004-14 के बीच था.”

उन्होंने आगे कहा था कि मैं मोदी सरकार को इसके पांचवें साल के लिए शुभकामनाएं देता हूं. यह सरकार यूपीए 1 का कभी मुकाबला नहीं कर सकती. लेकिन मैं इतनी उम्मीद जरूर करुंगा कि ये कम से कम यूपीए 2 के बराबर तो आए.

Back to top button