आवास मंत्रालय ने अपने विभिन्न प्रभागों के कार्यों का विवरण मांगा

नई दिल्ली : लोकसभा चुनाव से पहले केंद्रीय आवास और शहरी मंत्रालय अपनी सालाना रिपोर्ट तैयार कर रही है। मंत्रालय ने पिछले 15 महीनों में अपने विभिन्न प्रभागों द्वारा किए गए कार्यों का विवरण मांगा है। मंत्रालय का यह कदम ऐसे समय में आया है जब देश में लोकसभा चुनाव का माहौल है। उप सचिव आर प्रेम आनंद ने संबंधित विभिन्न विभागों के अधिकारियों को पत्र लिखकर 15 महीनों में काम करने का विवरण मांगा है।

प्रेम आनंद के लिखित निर्देशानुसार केंद्रीय आवास और शहरी मंत्रालय के सालाना रिपोर्ट में जनवरी 2018 से मार्च 2019 तक सामाग्री शामिल की जाएगी। वार्षिक रिपोर्ट में सीपीडब्ल्यूडी, दिल्ली विकास प्राधिकरण, प्रधानमंत्री आवास योजना, स्वच्छ भारत मिशन, एनबीसीसी और अन्य लोगों से संबंधित मुद्दों का ब्योरा होगा। रिपोर्ट को अंतिम रूप देने, छपाई और आपूर्ति का कार्य पूरा करने के लिए, सभी विंग प्रमुखों से विनम्रतापूर्वक अनुरोध किया गया है कि वे इस बात को सुनिश्चित करें कि जनवरी 2018 से मार्च 2019 के लिए उनके प्रमुख और सहयोगी कार्यालयों के संबंध में वास्तविक आंकड़े शामिल किए जाएं।

गौरतलब है कि सीपीडब्ल्यूडी भारत सरकार की सबसे बड़ी निर्माण एजेंसी है। सीपीडब्ल्यूडी केंद्र सरकार के भवनों के रख रखाव का काम करती है। साथ ही देश की अंतर्राष्ट्रीय सीमाओं के रख रखाव पर भी नजर रखती है।

Back to top button