छत्तीसगढ़राष्ट्रीय

Breaking: छत्तीसगढ़ का ट्रैकर वांगिश चंद्राकर लापता, पिंडारी ग्लेशियर था लक्ष्य

बागेश्वर: छत्तीसगढ़ के लापता ट्रैकर की तलाश को देहरादून से पांच सदस्यीय एसडीआरएफ की विशेषज्ञ टीम जिला मुख्यालय पहुंच गई है। गुरुवार को दल ¨पडर घाटी में राहत व बचाव कार्य चलाएगा।
बुधवार को देर सायं दल के पाचं सदस्य जिला मुख्यालय पहुंचे। यह सभी पर्वतारोही आज यही रूकेंगे। गुरुवार की तड़के दल के सदस्य कपकोट पहुंचेंगे। जहां एसडीएम र¨वद्र बिष्ट उनको ब्रिफ करेंगे। इसके बाद दल ¨पडर घाटी की ओर रवाना होगा। बीते तीन सितंबर को छत्तीसगढ़ के रायपुर निवासी वांगिश चंद्राकर ¨पडारी ग्लेशियर की ट्रे¨कग पर निकला था। 6 सितंबर से उसकी अंतिम लोकेशन खरकिया के पास देखी गई थी। जब घरवालों को उसकी कई दिनों तक सूचना नहीं मिली तो उन्होंने स्थानीय प्रशासन से संपर्क किया। इसके बाद एसडीएम कपकोट र¨वद्र ¨सह बिष्ट ने बीते 28 सितंबर को राहत व बचाव कार्य का जिम्मा अपने हाथों में लिया। उन्होंने दो दिन लगातार रेसक्यू आपरेशन चलाया। जब पता नही चल पाया। तो फिर दूसरी दो सदस्यी एसडीआरएफ टीम को ¨पडारी घाटी में आपदा बचाव राहत कार्य चलाने को भेजा। उन्होंने सभी संभावित स्थानों पर ऑपरेशन चलाया। लेकिन कहीं पता नही चल पाया। दल वापस लौट आया है। लापता ट्रैकर के जीजा प्रियंक पटेल, चचेरा भाई तुपेश चंद्रा जातोली के पास है। उन्होंने आनलाइन वागीश की गुमशुदगी दर्ज कराई है। लापता वांगिश की रिपोर्ट भी दर्ज कर ली गई है।

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *