मिशन 2019: राहुल गांधी का एक और वादा, सत्ता में आए तो पारित कराएंगे महिला आरक्षण विधेयक

कोच्चि।

लोकसभा चुनाव 2019 के मद्देनजर कांग्रेस जनता के बीच लगातार नए-नए वादे कर रही है। पहले गरीबों को न्यूनतम आय की गारंटी और अब कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार को केरल के कोच्चि में महिला आरक्षण को लेकर एक बड़ा ऐलान किया है। उन्होंने कहा कि यदि 2019 लोकसभा चुनाव के बाद कांग्रेस सत्ता में आती है तो महिला आरक्षण विधेयक वरीयता के आधार पर पारित कराया जाएगा।

राहुल ने बूथ स्तरीय पार्टी कार्यकर्ताओं की एक बैठक में कहा, 2019 का चुनाव जीतने पर पहली चीज हम संसद में महिला आरक्षण विधेयक पारित कराएंगे। बता दें कि राहुल गांधी ने एक पार्टी कार्यकर्ता द्वारा सुझाव दिए जाने पर यह बात कही।

उन्होंने कहा, हम महिलाओं को नेतृत्व के स्तर पर देखना चाहते हैं। गौरतलब है कि इस विधेयक का उद्देश्य लोकसभा और राज्य विधानसभाओं में महिलाओं के लिए 33 प्रतिशत आरक्षण का प्रावधान करना है। इस मुद्दे पर आमराय नहीं बन पाने के चलते यह विधेयक लंबे समय से लंबित है।

राहुल गांधी ने किया पीएम मोदी पर अटैक

इतना ही नहीं, राहुल गांधी ने केरल के कोच्चि में एक जनसभा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला करते हुए कहा, ‘मोदी ने पैसेवाले लोगों को मैक्सिमम इनकम गारंटी दी, हम गरीबों को मिनिमम इनकम गारंटी देंगे।’ बता दें कि राहुल गांधी ने सोमवार को कहा था कि यदि 2019 में कांग्रेस की सरकार बनती है तो देश के सभी गरीबों को न्यूनतम आमदनी की गारंटी दी जाएगी।

कांग्रेस के वादे पर मायावती ने उठाया सवाल

न्यूनतम आय की गारंटी के वादे के बाद बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमो मायावती ने कांग्रेस पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस पार्टी की पूर्ववर्ती सरकारों का रेकॉर्ड और खासकर इंदिरा गांधी की सरकार के बहुचर्चित गरीबी हटाओ के नारे व घोषणा के परिणाम जनता के सामने हैं।

कांग्रेस और बीजेपी इन दोनों ही पार्टियों द्वारा किसानों की दुर्दशा को समाप्त करने को लेकर किया गया वादा हवा-हवाई और छलावा ही साबित हुआ है।’ इतना ही नहीं, बीएसपी चीफ ने कहा, ‘कांग्रेस और बीजेपी दोनों ही असफल रहे हैं और साबित किया है कि वे एक सिक्के के दो पहलू हैं।’

1
Back to top button