मिशन 65 प्लस : अविभाजित सरगुजा मे परिणाम बदलने, भाजपा की पूरी कवायद

अविभाजित सरगुजा में सीटों का आँकड़ा 7-1 का

अंबिकापुर :

छत्तीसगढ़ में मिशन 65 प्लस को पूरा करने के लिए भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह आला पदाधिकारियों ने दो घंटे चर्चा करेंगे। भाजपा के मिशन 65 प्लस को पूरा करने के लिए अब पार्टी के सांसद गांव-गांव घूमेंगे।

अविभाजित सरगुजा में सीटों का आँकड़ा 7-1 का है, याने सात कांग्रेस और एक भाजपा जबकि संभाग में यह आँकड़ा सात सात का है। भाजपा की पूरी क़वायद अविभाजित सरगुजा में बीते चुनाव में मिले निराशाजनक परिणाम को बदलना है।

बीजेपी के मिशन 65 प्लस का पूरा होना तब ही सार्थक होगा जबकि सूपड़ा साफ़ अविभाजित सरगुजा में बीजेपी गहरी मुस्कुराहट ला सकने वाली सफलता हासिल कर ले।

कल दोपहर से शुरु बैठक में पहला मौका उस कोरिया जिले का आया जहाँ कि तीनों सीटों पर भाजपा क़ाबिज़ है, यह बैठक देर रात पौने दो बजे सामरी और प्रतापपुर विधानसभा की समीक्षा के साथ समाप्त हुई।

मैराथन बैठक का यह दौर आज भी जारी रहेगा आज सरगुजा की तीनों सीट अंबिकापुर लुंड्रा सीतापुर और सूरजपुर जिले की भटगाँव प्रेमनगर की बैठके होंगी।

इन बैठकों मे अपेक्षित कार्यकर्ताओं की जो श्रेणी हैं याने जो बुलाए गए है वे पदनाम धारी बीस हैं, इस हिसाब से हर विधानसभा से चालीस से पचास लोगों की उपस्थिति है।

सौदान सिंह का फ़ोकस जिन पर था उसमें वे 24 बिंदु की कार्ययोजना थी जिसमें बूथ लेव्हल तक सक्रियता के लक्ष्य को पूरा करने के चरणबद्ध कार्यक्रम पूर्व में दिए जा चुके हैं, सौदान सिंह ने सभी से यह पूछा कि इन 24 बिंदुओं की कार्ययोजना में क्या प्रगति है।

जिन सीटों पर हार मिली है वहाँ सौदान सिंह ने हार की वजह पूछी, इनमें रामानुजगंज से रामविचार नेताम और सामरी से सिद्धनाथ सिंह के क्षेत्र शामिल थे। इन इलाक़ों के कार्यकर्ताओं से सौदान सिंह ने विधानसभावार जातिगत आँकड़े और छजका तथा कांग्रेस के संभावित उम्मीदवारों तो लेकर जानकारी भी माँगी।

रामानुजगंज विधानसभा की बैठक के दौरान प्रत्याशी को लेकर एक कार्यकर्ता द्वारा यह कहे जाने पर कि, व्यक्ति विशेष को ही टिकट दी जाए, सौदान सिंह बिफरे और कहा “चुनाव संगठन लड़ता है, कोई व्यक्ति नही, आप जिनका नाम ले रहे हैं यदि इतनी उत्सुकता है तो उन्हे निर्दलीय लड़वा दीजिए, तो समझ आ जाएगा, ध्यान रखे कोई किसी का प्रत्याशी के तौर पर नाम ना ले”

राष्ट्रीय सह संगठन महामंत्री सौदान सिंह ने सभी को जो सार कहा वह यूँ था

“प्रदेश में भाजपा के तीस लाख सदस्य है, यह तीस लाख वोट दें और अपने साथ न्यूनतम तीन अन्य वोट डलवा लें तो आँकड़ा नब्बे लाख होता है, यह वोट मिल जाएँ तो आपको किसी की जरुरत नही,भाजपा की सरकार बन जाएगी, पूरा ज़ोर लगाइए हर कार्यकर्ता तक पहुँचिए और उसे प्रेरित करिए कि वह मतदान करे और अपने साथ न्यूनतम तीन और वोट लाए”

Back to top button