मिशन सागर : INS ऐरावत ने थाईलैंड को सौंपे 300 ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर

मिशन सागर-II के तहत जिबूती, इंडोनेशिया और वियतनाम को राहत सामग्री आपूर्ति करने के बाद अब भारतीय नौसेना का जहाज आईएनएस ऐरावत थाईलैंड के सट्टाहिप बंदरगाह पहुंचा, जहां कोरोना महामारी के खिलाफ लड़ाई में अनुमानित आवश्यकता के आधार पर भारत की ओर से भेजे गए 300 ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर थाईलैंड सरकार को सौंपे गए। बताना चाहेंगे कि आईएनएस ऐरावत अफ्रीका के पिछड़े देशों की मदद के लिए जारी मिशन सागर-II के तहत राहत सामग्री पहुंचाने का कार्य कर रहा है।

मित्र देशों को कोविड राहत देने के लिए किया तैनात

आईएनएस ऐरावत को दक्षिण पूर्व एशिया में भारत सरकार की ओर से शुरू किए गए मिशन सागर (सिक्योरिटी एंड ग्रोथ फॉर ऑल इन द रीजन) के तत्वावधान में उन मित्र देशों को कोविड राहत देने के लिए तैनात किया गया है, जो कोरोना महामारी से जूझ रहे हैं। वर्तमान तैनाती में जहाज ने थाईलैंड पहुंचने से पहले इंडोनेशिया और वियतनाम को कोविड राहत सामग्री पहुंचाई है।

आईएनएस ऐरावत की खासियत

एक लैंडिंग शिप टैंक (लार्ज) क्लास का जहाज आईएनएस ऐरावत पूर्वी नौसेना कमान के तहत विशाखापत्तनम में पूर्वी नौसैनिक बेड़े का एक हिस्सा है। जहाज को स्वदेशी रूप से डिजाइन किया गया है और इसे प्रतिकूल तटों पर सैन्य वाहनों और कार्गो को शामिल करने के लिए बनाया गया है। उनकी अन्य भूमिका में मानवीय सहायता एवं आपदा राहत (एचएडीआर) शामिल है। इस प्रकार यह जहाज इस मिशन के लिए पसंदीदा रहा है। इस जहाज ने अप्रैल, 2021 से कोरोना के खिलाफ लड़ने के लिए देश के प्रयासों में सक्रिय रूप से भाग लिया है।

भारत सरकार के दृष्टिकोण सागर (क्षेत्र में सभी के लिए सुरक्षा और विकास) के हिस्से के रूप में भारतीय नौसेना इस क्षेत्र के देशों के साथ सक्रिय रूप से जुड़ रही है। भारतीय नौसेना दक्षिण, दक्षिण पूर्व एशिया और पूर्वी अफ्रीका सहित महासागर की संपूर्ण सीमा तक कई मानवीय मिशनों में सबसे आगे रही है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button