‘मिशन शक्ति’: पीएम मोदी के संबोधन की जांच के लिए चुनाव आयोग ने बनाया अफसरों का पैनल

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा टीवी पर देश को संबोधित करना आदर्श चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन है या नहीं, इसकी जांच के लिए चुनाव आयोग ने एक पैनल का गठन किया है। चुनाव आयोग ने अफसरों का एक पैनल गठित कर उसे तत्काल मामले की जांच का निर्देश दिया है।

पीएम के संबोधन की कुछ विपक्षी दलों ने चुनाव आयोग से शिकायत की थी। इसके बाद आयोग ने बुधवार शाम उच्च स्तरीय बैठक की। बैठक के बाद आयोग ने कहा, ‘आज दोपहर में पीएम मोदी द्वारा इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के जरिए देश को संबोधित किए जाने का मामला चुनाव आयोग की जानकारी में आया है। आयोग ने चुनाव आचार संहिता के मद्देनजर अफसरों की एक कमिटी को मामले की तत्काल जांच का निर्देश दिया है।’

पीएम मोदी द्वारा ऐंटी-सैटलाइट मिसाइल के सफल परीक्षण की जानकारी दिए जाने और टीवी पर उनके संबोधन पर विपक्षी दलों ने तीखी प्रतिक्रिया दी है। सीपीएम ने चुनाव आयोग को खत लिखकर पीएम मोदी द्वारा A-SAT मिसाइल के सफल परीक्षण के ऐलान पर सवाल उठाया था।

पार्टी ने अपने खत में कहा है कि इस तरह का ऐलान संबंधित अथॉरिटी के बजाय पीएम द्वारा करना, वह भी चुनाव के समय में, चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन है। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी ने भी इसे लेकर चुनाव आयोग में शिकायत की बात कही है।

Back to top button