पाक सरकार के इशारे पर जाधव की मां-पत्नी से बदसलूकी, पाकिस्तानी पत्रकारों ने खोली पोल

पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय की रणनीति के तहत ही पत्रकारों ने कुलभूषण जाधव से मिलने गईं उनकी मां और पत्नी के साथ दुर्व्यवहार किया था।

पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय की रणनीति के तहत ही पत्रकारों ने कुलभूषण जाधव से मिलने गईं उनकी मां और पत्नी के साथ दुर्व्यवहार किया था। इतना ही नहीं बदसलूकी करने वाले पत्रकारों को मंत्रालय ने बाद में धन्यवाद भी दिया। पाकिस्तान की इस नापाक हरकत का खुलासा वहीं के कुछ पत्रकारों ने ट्विटर पर किया और अपने साथियों के रवैये पर नाराजगी जताई है।

डॉन समाचार पत्र के पत्रकार हसन बिलाल जैदी ने ट्वीट किया कि पत्रकार जाधव की मां और पत्नी पर कटाक्ष कर रहे थे और इन्हें कातिल की मां-पत्नी कहकर संबोधित किया। ऐसा करने वाले पत्रकारों को विदेश मंत्रालय ने धन्यवाद देते हुए कहा कि बहुत अच्छा काम। हमारे कुछ पत्रकार साथियों ने उस दिन बहुत खराब व्यवहार किया।

डब्ल्यूआईओएन के ताहा सिद्दीकी ने ट्वीट किया कि किसी दिन हम ऐसी स्टोरी करते हैं जिससे हमें घृणा होती है। और वह दिन कुछ ऐसा ही था। हमारे साथी पत्रकारों ने एक मां और पत्नी के साथ बहुत बुरा बर्ताव किया।

जब वे विदेश मंत्रालय से बाहर निकलीं तो उन पर तंज कसे गए। ये बहुत ही शर्मनाक था। एक अन्य पत्रकार ने लिखा कि न्यूज चैनलों को अपने पत्रकारों को रिपोर्टिंग की नीतियां सिखानी चाहिए। यह शर्मनाक था और इसे स्वीकार नहीं किया जा सकता।

महिला पत्रकार बेनजीर शाह ने ट्वीट किया कि उनके पास उन पाक पत्रकारों के लिए कोई शब्द नहीं है जिन्हें 70 वर्षीय बुजुर्ग महिला को अपमानित करने का तरीका ही देशभक्ति जताने का जरिया लगा।

25 दिसंबर को कुलभूषण जाधव से मुलाकात करने के बाद जब उनकी मां और पत्नी बाहर आईं तो वहां जानबूझकर पत्रकारों को प्रवेश दिया गया और उन्हें कातिल की मां-पत्नी कहकर संबोधित किया गया।

advt
Back to top button