मिताली राज बोलीं, ‘मैं अब आगे बढ़ चुकी हूं’ सभी विवादों से

उन्हें जीवन की प्रतिकूल परिस्थितियों से निकालने में मदद की है.

भारत की दिग्‍गज महिला क्रिकेटर मिताली राज ने कहा है कि वे पूर्व कोच रमेश पोवार और कमेटी ऑफ एडमिनिस्‍ट्रेटर्स (सीओए) सदस्य डायना एडुल्जी के साथ विवाद को पीछे छोड़ चुकी हैं.

भारतीय महिला वनडे टीम की कप्तान मिताली राज ने कहा कि क्रिकेट ने उन्हें जीवन की प्रतिकूल परिस्थितियों से निकालने में मदद की है.

गौरतलब है कि भारतीय महिला टीम उस समय विवादों के घेरे में आ गई थी जब वेस्टइंडीज में आयोजित टी20 वर्ल्‍डकप के सेमीफाइनल में बाहर होने के बाद मिताली ने तत्‍कालीन कोच रमेश पोवार पर पक्षपात का और एडुल्जी पर उसका कैरियर बर्बाद करने की साजिश रचने का आरोप लगाया था.

इंग्‍लैंड के खिलाफ इस सेमीफाइनल मैच की प्‍लेइंग इलेवन में मिताली राज को स्‍थान नहीं दिया गया था और इस मैच में हारकर भारतीय टीम को टूर्नामेंट से बाहर होना पड़ा था.

इसके बाद रमेश पोवार और मिताली का विवाद सामने आने से भारतीय महिला क्रिकेट की किरकिरी हुई थी.

जहां मिताली ने कोच पोवार पर इरादतन उनकी (मिताली की) की अनदेखी करने का आरोप लगाया था, वहीं कोच पोवार ने बीसीसीआई को सौंपी अपनी रिपोर्ट में वरिष्‍ठ महिला क्रिकेटर मिताली राज के रवैये, टीम भावना से लेकर उनकी काबिलियत तक पर सवाल खड़े किए थे.

बहरहाल, मिताली अब इस विवाद को पीछे छोड़कर आगे बढ़ना चाहती हैं. न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज से पहले उन्‍होंने कहा,‘जो बीत गया, सो बीत गया. मैं आगे बढ़ चुकी हूं.

क्रिकेट ने मुझे यह सिखाया है कि आप शतक बनाएं या जीरो पर आउट हों, आगे बढ़ने के लिये तैयार रहना चाहिए.’

उन्होंने कहा ,‘पेशेवर क्रिकेटर होने के नाते सभी को पता है कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खेलने के लिये क्या जरूरी है.

हम यहां देश का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं और एक इकाई के रूप में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना चाहते हैं.’

भारतीय टीम गुरुवार को न्‍यूजीलैंड के खिलाफ पहला वनडे खेलेगी. महिला टीम को तीन वनडे और तीन टी20 मैच खेलने हैं.

मिताली ने कहा कि फोकस फिर क्रिकेट पर लाना जरूरी है और न्यूजीलैंड दौरा इसमें मददगार साबित होगा.

उन्होंने कहा ,‘हमारी टीम पिछले चार पांच साल से साथ खेल रहे हैं लिहाजा अनुभव की कमी नहीं है. हमें हालात के अनुरूप जल्दी अपने आपको ढालना होगा.

 

1
Back to top button