छत्तीसगढ़

शतरंज सम्राट ट्रॉफी में विधायक ने किया हेमन्त खुटे की किताब का विमोचन

गठन इतिहास व उपलब्धियों पर प्रकाश डाला

पिथौरा: पिथौरा जिला शतरंज संघ  महासमुंद द्वारा आयोजित  शतरंज सम्राट  ट्रॉफी जिला स्तरीय ओपन  शतरज स्पर्धा का उदघाटन मुख्य अतिथि द्वारिकाधीश यादव विधायक खल्लारी ने साहू सभागार हॉस्पिटल में किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता जिला शतरंज संघ के संरक्षक  डॉ  डी एन साहू ने की।

विशेष अतिथि रेन्शी  श्याम कुमार गुप्ता ( राष्ट्रीय कराते गोजिरियू अकादमी भारत के चीफ डायरेक्टर) तथा अंतरराष्ट्रीय मैराथन  उड़नपरी कौशिल्या ध्रुव , युवा कांग्रेस नेता जितेंद्र सिन्हा मंचासीन थे।

सर्वप्रथम बीजू पटनायक ने संघ का वार्षिक प्रतिवेदन वाचन करते हुए गठन इतिहास व उपलब्धियों पर प्रकाश डाला।

शतरंज बौद्धिक एवं  मानसिक खेल

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि द्वारिकाधीश यादव ने खिलाड़ियों को संबोधित करते हुए कहा कि शतरंज बौद्धिक एवं  मानसिक खेल है। खेल गतिविधियों के माध्यम से हमारा शारीरिक एवं मानसिक विकास होता है। 

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के सपनों के अनुरूप  हम बच्चों के भविष्य का निर्माण के लिए कृत संकल्पित हैं। छत्तीसगढ़ शासन के खेल गढ़िया कार्यक्रम  का जिक्र करते हुए कहा कि हमें परंपरागत खेल गतिविधियों के अलावा खेल विधा के रूप में शतरंज को चुनना होगा। शतरंज खेल गतिविधियों में आज पूरे प्रदेश में  पिथौरा की एक अलग पहचान बन चुकी है ।

सचिव के प्रयासों की सराहना

इसमे मेरे सहपाठी मित्र एवं आयोजन समिति के सचिव के प्रयासों की सराहना करता हूँ। उनके ज्ञान एवं अनुभव का लाभ विद्यार्थियों को  मिल रहा है। उन्होंने  पिथौरा में संचालित निशुल्क शतरंज की पाठशाला  के लिए 20 नाग चेस क्लॉक  उपलब्ध कराने की घोषणा मंच से की ।

विशिष्ट अतिथि रेन्शी श्याम कुमार गुप्ता ने कहा कि छत्तीसगढ़  की पहचान कराते के माध्यम से अंतरराष्ट्रीय स्तर तक पहुंच चुकी है। नियमित प्रशिक्षण एवं मार्गदर्शन के लिए  छत्तीसगढ़ में पहली कराते यूनिवर्सिटी खोलने का प्रयास किया जा रहा है जिसमे छत्तीसगढ़ शासन के युवा खेल मंत्री उमेश पटेल का सहयोग मिल रहा है।इस प्रस्तावित  यूनिवर्सिटी में शतरंज एवं कराते के लिए फिजिकल फिटनेस की कार्य योजना क्रियान्वित की जाएगी।

अपने अध्यक्षीय उदबोधन  में डॉ डी एन साहू ने कहा कि महासमुन्द जिला शतरंज संघ स्वयं की पहल से खेल गतिविधियों का संचालन कर रहा है ।हम चाहते हैं कि स्कूल के बच्चे शतरंज में भाग लेकर अपने व्यक्तित्व को निखारे और खेल  को भी पढ़ाई के साथ उतना ही महत्व दे ताकि उनका करियर बन सके ।

इस  दौरान इस दौरान मुख्य अतिथि विधायक  द्वारिकाधीश यादव ने शतरंज के राष्ट्रीय निर्णायक एवं जिला शतरंज संघ के  सचिव हेमन्त खुटे  द्वारा लिखित शतरंज की तीसरी किताब द किंग  चेस का विमोचन किया। 

जन -जन तक शतरंज खेल को  लोकप्रिय बनाने में महती भूमिका निभाने हेतु पत्रकारगण मनोहर साहू, जाकिर कुरैशी ,नंदकिशोर अग्रवाल एवं छत्तीसगढ़ के खेल हस्ती उड़नपरी कौशिल्या ध्रुव  मैराथन के लिए , श्याम कुमार गुप्ता को  कराते के लिए एवं स्कूली बच्चों के लिए अपने विद्यालय में शतरंज क्लब गठन करने के लिए व्याख्याता   लोकनाथ पटेल को मुख्य अतिथि द्वारा  मोमेंटो से  सम्मानित किया गया। 

स्पर्धा में खिलाड़ियों को निःशुल्क  प्रवेश

प्रतियोगिता संचालक हेमन्त खुटे ने जानकारी देते हुए बताया की इस स्पर्धा में खिलाड़ियों को निःशुल्क  प्रवेश दिया गया है ।उक्त स्पर्धा में कुल  54 खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया है  जिसमें से 11 बालिकाएं  शामिल है ।

कार्यक्रम का संचालन विकासखंड क्रीड़ा अधिकारी  सुधीर प्रधान ने तथा आभार प्रदर्शन उमेश दीक्षित ने किया।

इस अवसर पर संजय श्रीवास्तव , क्षीरोद्र   पुरोहित , अखिलेश कर , केसर  भोई, लोकनाथ पटेल, अलीम खान, गजानंद साहू, कल्पना चंद्राकर  रामकुमार विश्वकर्मा, शरत पुरोहित, विद्या भूषण सेन, ऋषि सिंह चंदेल आदि उपस्थित थे।

Tags
Back to top button