राज्य

फेसबुक पर नहीं कर पाई चैटिंग तो लड़की ने दी जान

फेसबुक पर चैटिंग न कर पाने की वजह से 11वीं में पढ़ने वाली लड़की ने अपनी जान दे दी। कोलकाता की रहने वाली ज्योति को उसकी मां ने जन्मदिन पर गिफ्ट में मोबाइल फोन दिया था। इसके बाद उसे फेसबुक पर चैटिंग की लत लग गई। मां ने उसकी इस आदत को देखते हुए फोन वापस लिया तो उसने फांसी लगाकर जान दे दी।

कोलकाता पुलिस के मुताबिक मां ने बेटी को उसके जन्मदिन पर एक फोन दिया था। मगर फोन मिलने के बाद से ही उसने पढ़ाई में ध्यान देना बंद कर दिया। इससे नाराज मां ने उससे फोन वापस ले लिया यह कहते हुए कि पहले पढ़ाई करो फिर फोन मिलेगा। इस बात से 17 साल की ज्योति इतना खफा हुई कि उसने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

पुलिस के मुताबिक फोन मिलने के बाद से वह सोशल मीडिया में लगातार रहने लगी थी। उसको इसकी लत लग चुकी थी। ज्योति ने मरने से पहले किसी तरह का कोई सूइसाइड पत्र नहीं लिखा था। हमने उसके माता-पिता से बात की और उसके बारे में जानने की कोशिश की।

बातचीत में पता चला कि बच्ची पढ़ाई में अच्छा नहीं कर पा रही थी। उसकी मां ने बताया कि उसे फेसबुक की लत लग गई थी। जब उससे फोन ले लिया गया तो उसने गुरुवार की शाम को अपना कमरा बंद करके खुद को फांसी लगा ली। जब उसने काफी देर तक दरवाजा नहीं खोला तो पड़ोसियों और परिवार के लोगों के साथ मिलकर दरवाजा तोड़ा गया। परिवार के लोग उसे आनन-फानन में उसे चितरंजन नेशनल मेडिकल कॉलेज में ले गए जहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित किया।

ज्योति के पिता कृष्ण प्रसाद शॉ किराना की दुकान चलाते हैं। उन्होंने कहा कि बेटी को हम लोग पढ़ने के लिए सवाल जवाब कर रहे थे जिसकी वजह से वह नाराज थी। पुलिस अधिकारी कल्याण बनर्जी ने बताया कि ज्योति के पिता ने किसी भी तरह की कोई शिकायत दर्ज नहीं की है।

इस मामले में मनोचिकित्सक मानसी जोशी ने कहा कि आज कल बच्चों के लिए उनके वर्चुअल जीवन में रहने वाले लोगों की महत्ता अधिक हो गई है। फेसबुक के दोस्तों से बात करना उनके संपर्क में रहना उन्हें अच्छा लगता है। वह भूल जाते हैं कि वह जिन अपनों के साथ रह रहे हैं वह उनके लिए सबसे जरूरी हैं। ऐसे में जब किसी का वर्चुअल दुनिया के लोगों से सम्पर्क टूट जाता है तो वह अवसाद में आ जाता है। इसके बाद आत्महत्या जैसी घटना को अंजाम देता है। ऐसा ही ज्येाति के साथ हुआ है।

Summary
Review Date
Reviewed Item
कोलकाता
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags
advt

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.