राष्ट्रीय

जन्मदिन की बधाई देने पहुंचे लालकृष्ण आडवाणी के घर पहुंचे मोदी

91 वर्ष के हो गए पूर्व उप प्रधानमंत्री

नई दिल्ली।

भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी 8 नवंबर को 91 वर्ष के हो गए। भाजपा के भीष्म पितामह के नाम से मशहूर लालकृष्ण आडवाणी की वजह से ही भाजपा आज यह मुकाम हासिल कर सकी है। इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आडवाणी के घर जाकर उन्हें जन्मदिन की बधाई दी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को भाजपा के वरिष्ठ नेता और सांसद लालकृष्ण आडवाणी को उनके 91वें जन्मदिन के अवसर पर शुभकामनाएं देते हुए कहा कि राष्ट्र निर्माण में उनका बहुत बड़ा योगदान है। वह कई बार भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष रह चुके हैं। जब भी भारतीय जनता पार्टी के इतिहास की बात होगी देश के पूर्व उप-प्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी की चर्चा के बिना वह अधूरी ही रहेगी।

पीएम मोदी ने ट्विटर पर लिखा, भारत के विकास में आडवाणी जी का योगदान बहुत बड़ा है। मंत्री के तौर पर उनके कार्यकाल की प्रशंसा भविष्योन्मुखी निर्णय लेने और जनपक्षधर नीतियों के लिए की जाती है। उनकी विद्वता की प्रशंसा सभी राजनीतिज्ञ करते हैं।

एक अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा, पार्टी के वरिष्ठ नेता का भारतीय राजनीति पर अमिट प्रभाव पड़ा है। उन्होंने नि:स्वार्थ भावना और सतत परिश्रम से भाजपा को खड़ा किया और आश्चर्यजनक रूप से कार्यकर्ताओं का मनोबल बढ़ाया। आडवाणी का जन्म कराची (पाकिस्तान) में 1927 को हुआ था।

<

strong>योगी और अमित शाह ने भी शुभकामनाएं

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी जन्मदिन की बधाई दी। उन्होंने ट्वीट किया- श्रद्धेय लालकृष्ण आडवाणी जी को जन्मदिवस की हार्दिक शुभकामनाएं, आपकी दीघार्यु व उत्तम स्वास्थ्य के लिये ईश्वर से प्रार्थना करता हूं।

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने ट्वीट कर लिखा, जनसंघ से लेकर भाजपा तक हमारी विचारधारा को जन-जन तक पहुंचाने से लेकर संसद में एक कुशल राजनीतिज्ञ के रूप में भारत को प्रगति के पथ पर अग्रसर करने में आडवाणी जी का भारतीय राजनीति में अद्वितीय योगदान है। हम सभी भाजपा कार्यकतार्ओं की ओर से उन्हें शुभकामनाएं।

कराची में हुआ था जन्म

आडवाणी का जन्म 8 नवंबर, 1927 को पाकिस्तान के काराची में हुआ था। भाजपा की नींव को मजबूत करने में आडवाणी ने अथक प्रयास किए। साल 1998 से लेकर 2004 तक राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की सरकार में गृहमंत्री थे। लालकृष्ण आडवाणी भारतीय जनता पार्टी के सह-संस्थापक और वरिष्ठ राजनेता हैं, जो 10वीं और 14वीं लोकसभा में प्रतिपक्ष के नेता रहे।

आडवाणी के राजनीतिक करियर की शुरूआत 1942 में राष्ट्रीय स्वयं सेवक के कार्यकर्ता के तौर पर हुई थी। राजनीति के शिखर पर पहुंचे लालकृष्ण आडवाणी को साल 2015 देश के दूसरे सबसे बड़े नागरिक पुरस्कार पदम विभूषण से सम्मानित किया गया।

congress cg advertisement congress cg advertisement
Tags