बाढ़ ग्रसित राज्यों का जायजा लेने केरल पहुंचे मोदी

बाढ़ के कहर से अब तक 324 से अधिक लोगों की जान जा चुकी है और 2,875 लोग बेघर हो गए हैं।

तिरूवनंतपुरमः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी केरल में बाढ़ के हालात का जायजा लेने के लिए शुक्रवार शाम तिरुवनंतपुरम पहुंचे। वह शनिवार सुबह राज्य के मुख्यमंत्री पिनराई बिजयन के साथ बाढ़ के हालात का जायजा लेंगे।

मोदी के तिरुवंतपुरम हवाई अड्डे पर पहुंचने पर सेवानिवृत राज्यपाल पी सदाशिवम, मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन, केन्द्रीय मंत्री अल्फोंस कन्ननथनम, राज्यसभा सांसद मुरलीधरन, विधानसभा में विपक्ष के नेता रमेश चेन्नीथला,

राज्य मंत्रीमंडल के कई मंत्री और वरिष्ठ अधिकारी, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की राज्य इकाई के अध्यक्ष पी एस श्रीधरन पिल्लई तथा भाजपा कार्यकर्ताओं ने उनका स्वागत किया। हवाई अड्डे से प्रधानमंत्री सीधे राजभवन पहुंचे गए जहां वह रात में ठहरेंगे।

सूत्रों के अनुसार विजयन ने मोदी से राज्य में हो रही भारी बारिश को राष्ट्रीय आपदा घोषित करने का आग्रह किया। चेन्नीथला ने प्रधानमंत्री को एक ज्ञापन देकर मांग की कि राज्य के राहत और बचाव कार्यों को सेना को सौंप दिया जाए ताकि निचले क्षेत्रों में फंसे हजारों बाढ़ पीडितों की प्रभावकारी सहायता सुनिश्चित की जा सके।

भाजपा प्रदेशाध्यक्ष ने भी बारिश से संबंधित आपदाओं और बाढ़ को राष्ट्रीय आपदा घोषित करने की मांंग को लेकर मोदी को ज्ञापन सौंपा।

उन्होंने बाढ़ की स्थिति से निपटने के लिए केन्द्र सरकार से पर्याप्त आर्थिक सहायता की भी मांग की। मोदी शनिवार सुबह सवा सात बजे विशेष हेलिकाप्टर से कोच्चि के लिए रवाना होंगे और बाढ़ प्रभावित मध्यवर्ती त्रिवणकोर और राज्य के उत्तरी जिलों का जायजा लेंगे। बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का हवाई दौरा करने के बाद श्री मोदी बाढ़ से संबंधित उच्च स्तरीय समीक्षा बैठक में हिस्सा लेंगे। इसके बाद वह दिल्ली के लिए रवाना होंगे।

बता दें कि केरल में लगातार बारिश के कारण आई प्रलंयकारी बाढ़ के कहर से अब तक 324 से अधिक लोगों की जान जा चुकी है और 2,875 लोग बेघर हो गए हैं। वहीं भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने केरल के कोल्लम, पथनमथिट्टा, कोट्टायम, इडुकी, एर्नाकुलम, पलक्कड़, कोझिकोड और वायनाड जिलों में 17 और 18 अगस्त को भारी बारिश होने की चेतावनी जारी की है।

Tags
Back to top button